भोजन में इन 7 चीजों का जरूर करें सेवन, खुल जाएगा आपका भाग्य, जीवन की बाधाएं होंगी दूर

206
Lucky Food

भाग-दौड़ भरी जिंदगी में कई बार हम अपने खानपान को लेकर बहुत ढीले पड़ जाते हैं और उस नियम का पालन नहीं कर पाते जो हमारी सेहत (Health) के लिए अच्छा होता है. सनातन धर्म में खानपान को लेकर कई नियम तय किए गए हैं. जिसमें बताया गया है कि किस दिन और किस मौसम में कैसी चीजों का सेवन करना चाहिए. लेकिन बिजी शेड्यूल हमारी दिनचर्या में विघ्न बन जाता है जिसके कारण नियमों का पालन करने से हम चूक जाते हैं और कई बार बिना जानें समझे कुछ ऐसी चीजों का सेवन कर लेते हैं जो हमें नहीं करना होता है. जिससे हमारा अपना स्वास्थ्य बिगड़ सकता है. इतना ही नहीं कहते हैं कि गलत दिन पर सही चीजों का सेवन न करने से भी कई तरह के नुकसान होते हैं. कई बार धन से जुड़ी समस्या खड़ी हो जाती है. और तो और किस्मत साथ देना छोड़ देती है. ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि किस दिन किस प्रकार के भोजन को करने से लाइफ में सब कुछ परफेक्ट होता है.

ये भी पढ़ें:- जन्म कुंडली से जुड़े ग्रह कमजोर पड़ने पर मिलते हैं ये बड़े संकेत, जानें कैसे आदतों में होता है बदलाव

कहा जाता है कि सोमवार का दिन भगवान शिव का होता है. ऐसे में भोजन का सेवन करने के बाद सौंफ और शक्कर जरूर लेना चाहिए. कहते हैं कि इसके सेवन से मनुष्य का चंद्रमा मजबूत स्थिति में होता है. साथ ही शरीर का इम्यून सिस्टम भी छोटी-मोटी बीमारियों से लड़ने की क्षमता रखता है.

इसके साथ ही बात करें अगले दिन यानी मंगलवार की तो ये दिन स्वामी मंगल ग्रह को कहा जाता है. कहते हैं कि इन्हें गुड़ और घी बहुत पसंद होता है. ऐसे में यदि मंगलवार के दिन आप ऐसी चीजों का दान करते हैं या फिर इसका सेवन करते हैं तो जिन राशियों का मंगल कमजोर होता है उन्हें ऐसा करने से लाभ प्राप्त होता है. ऐसे में अगर आप मंगलवार के दिन किसी शुभ काम से जुड़े मकसद से जा रहे हैं तो घर से गुड़ खाकर निकले इससे आपको कामयाबी मिलेगी.

बुद्धवार के दिन की बात करें तो बुद्ध ग्रह स्वामी विद्या और बुद्धि के प्रदाता को माना जाता है. इस दिन हरे रंग की वस्तुओं का इस्तेमाल करना शुभ माना गया है. इसलिए हो सके तो बुद्धवार के दिन आप हरे कलर के कपड़ों को पहनें. साथ ही हरी चीजों का सेवन करें और हरी वस्तुओं का ही दान करें. माना जाता है कि इस दिन खाने में मूंग दाल और हरा साग का सेवन करने से शुभ फल की प्राप्ति होती है. ऐसे में संभव हो सके तो आप बुद्धवार को गाय को भी पालक जरूर खिलाएं.

हफ्ते का चौथा दिन यानी गुरूवार भगवान विष्णु और बृहस्पति ग्रह का माना गया है. ये तो आप भी जानते होंगे कि गुरूवार को पीले रंग का अधिक महत्व होता है. ऐसे में गुरूवार के दिन पीले कपड़े धारण करने के साथ खाने में भी पीली चीजों का ही सेवन करें. ऐसा करने से शुभ फल की प्राप्ति होती है. कहते हैं कि गुरुवार के दिन चने की दाल या फिर बेसन की कोई नई रेसिपी बनाकर जरूर खाएं.

इसके साथ ही बात करें शुक्रवार की तो ये दिन धन की देवी मां लक्ष्मी का होता है और इस दिन के स्वामी दैत्यों के गुरु शुक्र माने जाते हैं. इसलिए शुक्रवार के दिन गलती से भी खट्टी चीजों को हाथ नहीं लगाना चाहिए. शुक्रवार के दिन खट्टा खाने से बचना चाहिए. कहा जाता है कि यदि आप मां लक्ष्मी को का आशीर्वाद पाना चाहते हैं तो इस दिन घर को अच्छे से साफ कर लें. इसके बाद घर में चावल और मखाने की खीर बनाएं. जैसे ही संध्या का समय हो उस खीर को मां लक्ष्मी को भोग लगाकर परिवार के सभी सदस्यों के बीच प्रसाद के रूप में बांट दें. इसके बाद खुद भी खा लें. हालांकि इस दिन आप बताशे का भी सेवन कर सकते हैं.

फिलहाल शनिवार की बात करें तो ये दिन न्याय और कर्म के देवता शनिदेव का होता है. इस दिन काली चीजों का सेवन करने के साथ ही काले वस्त्र भी पहनने चाहिए. क्योंकि शनिदेव को काली चीजें ज्यादा पसंद होती हैं. इस दिन आप किसी को दान दे रहे हैं तो काली चीजों का ही दान करें. साथ ही खाने में काली उड़द की दाल और काले चने का सेवन करें.

इसके बाद बात करते हैं हफ्ते के आखिरी दिन रविवार की. जिसे लोग अपने सभी बचे कामों को निपटाने के लिए शुभ मानते हैं. कहते हैं कि ये दिन सूर्यदेव के आधिपत्य का दिन होता है. ऐसे में रविवार के दिन सुबह जल्दी उठकर पहले स्नान कर लें. फिर सूर्यदेव को जल चढ़ाने से पहले उसमें पीले चंदन और लाल पुष्प को डालकर उन्हें अर्घ्य दें. ध्यान रहे कि इस दिन खाने में गुड़ और मीठी रोटी जरूर खाएं. कहा जाता है कि इस दिन नमक खाने से बचना चाहिए. यदि आप ऐसा करने में सफल हो जाते हैं तो इससे सूर्य का शुभ प्रभाव आप पर बढ़ता है.

ये भी पढ़ें:- हैं डायबिटीज के मरीज, तो न करें ये गलती, नहीं तो चुकानी होगी भारी कीमत