Safalta Ki Kunji

अगर आपको अपनी लाइफ में सफलता प्राप्त करनी है तो कुछ बातों का बहुत ध्यान रखना चाहिए, क्योंकि कभी कभी व्यक्ति छोटी गलतियों की वजह से बड़ी सफलता से दूर चला जाता है। गीता में भगवान श्रीकृष्ण ने कहा है कि व्यक्ति को हर परिस्थिति में धैर्य बनाए रखना चाहिए। जो व्यक्ति संकट और खुशी के क्षणों में धैर्य और गंभीरता से काम नहीं लेते हैं, वे प्रतिभाशाली होने के बाद भी सफलता का सुख भोगने से कभी-कभी चूक जाते हैं।

विद्वानों के अनुसार सफलता उसी व्यक्ति को प्राप्त होती है, जो हर परिस्थिति में धैर्य रखते हैं। इसका मतलब है दुख में ज्यादा दुखी होने से कुछ नहीं होगा, दुख और संकट के वक्त व्यक्ति की परीक्षा होती है, ऐसे में उसे सहज का साथ कभी नहीं छोड़ना चाहिए। संकट के वक्त ही हमारे गुणों का आंकलन भी किया जाता है, जो इस बात को नहीं समझ पाते हैं, वे हमेशा परेशान रहते हैं।

मेहनत का असली महत्व

सफलता में मेहनत यानी परिश्रम का बड़ा योगदान है, जो व्यक्ति मेहनत करने से डरते हैं, या परिश्रम करने से बचते हैं, वे कभी सफल नहीं हो पाते हैं। अगर किसी प्रकार से सफलता प्राप्त कर भी लें, तो इस सफलता को ज्यादा वक्त तक संभाल कर नहीं रख पाते हैं। इसी कारण कहा जाता है कि मेहनत से कभी न डरें।

अनुशासन का करें पालन

चाणक्य के अनुसार व्यक्ति को जीवन में अनुशासन की भावना का सबसे बड़ा महत्व है, जिस व्यक्ति की लाइफ में अनुशासन नहीं है, उसे सफलता पाने के लिए जीवन में ज्यादा संघर्ष करना पड़ता है, वहीं जो लोग हर काम को अनुशासन के दायरे में रहकर करते हैं, वे जल्द ही सफल हो जाते हैं।

नकारात्मक विचारों से बनाएं दूरी

विद्वानों के अनुसार व्यक्ति की सफलता में सकारात्मक विचारों का भी बहुत बड़ा योगदान होता है, जो व्यक्ति नकारात्मक विचारों को मन में रखते हैं, उन्हें माँ लक्ष्मी जी का आशीर्वाद नहीं मिलता है। ऐसे लोग सुख से भी वंचित रह जाते हैं।

इसे भी पढ़ें:- कुछ ही देर में मोदी कैबिनेट का विस्तार, इन नये चेहरों को मिलेगी जगह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here