Baglamukhi Mandir: ‘शत्रुनाशिनी यज्ञ’ में इस मंदिर में दी जाती है आहूतियां, बड़े से बड़े दुश्‍मनों का होता है नाष

हिमाचल प्रदेश में एक ऐसा ही विशाल मंदिर है, जहां विशेष पूजा-अर्चना करने से बड़े से बड़े दुश्‍मन पर भी जीत हासिल हो जाती है. इस मंदिर का नाम बगलामुखी मंदिर है और यहां शत्रुनाशिनी यज्ञ कराने के लिए लोग दूर-दूर से पहुंचते हैं.

0
221
Baglamukhi Mandir

Baglamukhi Temple Himachal Pradesh: घर में कोई विवाद हो, व्‍यापार-नौकरी से जुड़ी कोई भी परेशानियां, कोर्ट-कचहरी के केस या फिर बाकी के कारणों से बने दुश्‍मनों से उबरना पाना आसान काम नहीं होता है. बहुत बार इन सारी दिक्कतों से निपटने के लिए साम-दाम-दंड-भेद जैसी खूब सारी नीतियां अपनानी पड़ जाती हैं. हिमाचल प्रदेश में एक ऐसा ही विशाल मंदिर है, जहां विशेष पूजा-अर्चना करने से बड़े से बड़े दुश्‍मन पर भी जीत हासिल हो जाती है. इस मंदिर का नाम बगलामुखी मंदिर है और यहां शत्रुनाशिनी यज्ञ कराने के लिए लोग दूर-दूर से पहुंचते हैं.

यज्ञ में लाल मिर्च की आहुति

कांगड़ा जिले में बने इस मां बगलामुखी मंदिर में शत्रुनाशिनी और वाकसिद्धि यज्ञ किया जाता हैं. ये यज्ञ करने से शत्रु को हराने में सहायता मिलती है. या फिर ये कह लें कि बड़े से बड़ा शत्रु भी हार जाता है. इसी के साथ ही व्‍यक्ति की सारी इच्छा पूरी होती है. शत्रु को हराने के लिए किए जाने वाले इन यज्ञ में लाल मिर्च की आहुति डाली जाती है.

रावण की ईष्‍ट देवी

हिंदू पौराणिक कथाओं में मां बगलामुखी को दस महाविद्याओं में से आठवें नंबर पर उनका नाम लिया जाता है. वे रावण की ईष्‍ट देवी थीं. धर्म-शास्‍त्रों के मुताबिक जब भगवान राम, रावण से युद्ध करने के लिए जा रहे थे, तो उन्‍होंने भी मां बगलामुखी की आराधना की थी. उसी समय उनको रावण पर जीत हासिल हुई थी. यही नही पांडव भी मां बगलामुखी की पूजा करते थे. ऐसा कहा जाता है कि कांगड़ा स्थित यह मंदिर महाभारत काल का है और पांडवों ने ही अज्ञातवास के दौरान एक रात में इस मंदिर की स्‍थापना कर दी थी.

मंदिर की पहचान पीला रंग

यह मंदिर पीले रंग का है. बल्कि इस मंदिर की हर चीज यहां तक की माता के कपड़ों से लेकर उनको लगने वाले भोग तक हर चीज पीले रंग की होती है. ऐसी मान्‍यता है कि मां बगलामुखी भक्तों के डर को दूर भगाने के लिए उनके शत्रुओं और उनकी बुरी शक्तियों का नाश कर देती हैं. ज्ञात हो कि इस मंदिर में मुकदमों, विवादों में फंसे लोगों के अलावा बड़े-बड़े नेता, सेलिब्रिटी आदि भी विशेष पूजा करने के लिए पहुंचते हैं.

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. upvartanews इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

Read More-इस राशि के जातकों की इस महीने खुलेगी किस्मत, नौकरी में मिलेंगे बंपर ऑफर