kawad yatra

लखनऊ/देहरादून। कोरोना काल में होने वाली कांवड़ यात्रा के लिए मुख्यमंत्री योगी ने सूबे में तैयारियां तेज कर दी हैं। उन्होंने उत्तराखंड , बिहार, उत्तर प्रदेश में जलाभिषेक के लिए श्रद्धालुओं के लिए निर्देश दिए हैं। कोरोना काल को देखते हुए सीएम योगी का कहना है कि पड़ोसी राज्यों से संवाद स्थापित कर कांवड़ यात्रा को पूरा किया जाये। उन्होंने कहा कि कांवड़ यात्रा को सुचारू रूप से चलाया जाये। ज्ञात हो कि 25 जुलाई से शिवभक्तों की कांवड़ यात्रा शुरू होगी।
उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार की अध्यक्षता में मंगलवार को देहरादून में कांवड़ यात्रा को लेकर 8 राज्यों के पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक हुई है। कांवड़ यात्रा को लेकर डीजीपी अशोक कुमार ने बताया कि साल 2020 की तरह इस साल भी कोरोना के चलते उत्तराखंड सरकार ने कांवड़ यात्रा को प्रतिबंधित किया है। कोरोना की तीसरी लहर के मद्देनजर पूर्व के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कांवड़ यात्रा पर पूरी तरह रोक लगाई थी।

pushker-dhami-yogi-aditynath

इससे पहले खबर थी कि कांवड़ यात्रा को लेकर उत्तराखंड के नये मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से फोन पर बात की है। वह जल्द ही हरियाणा के मुख्यमंत्री से बात करने के बाद कांवड़ यात्रा शुरू करने पर फैसला कर सकते हैं। मुख्यमंत्री बनते ही पुष्कर धामी ने ताबड़तोड़ फैसले लेने शुरू कर दिये हैं।

ऐसे में बन्द पड़े पर्यटन व्यवसाय को फिर से शुरू करने के लिए सरकार चारधाम यात्रा शुरू करने के सभी पहलुओं पर विचार कर रही है। व्यापार को गति मिले इसके लिए कांवड़ यात्रा शुरू होने की उम्मीद जताई जा रही थी। माना जा रहा है कि कोरोना के मामले कम होने की स्थिति में कांवड़ यात्रा शुरू की जा सकती है।

यह भी पढ़ेंः-CM योगी ने कबूला ओवैसी का चैलेंज, यूपी चुनाव में BJP की जीत पर किया बड़ा दावा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here