Saturday, January 16, 2021

बीटीपी को हराने के लिए एक-दूसरे की कट्टर विरोधी पार्टियां बीजेपी और कांग्रेस होंगी साथ

राजनीति में सब कुछ जायज होता है ये तो आप सभी जानते ही होंगे। ऐसा ही कुछ राजस्थान में भी होने वाला है। राजस्थान जिला परिषद चुनाव में प्रमुख पद के लिए खड़े हुए एक अन्य पार्टी के उम्मीदवार को जीत से रोकने के लिए राजनीती में एक दूसरे की कट्टर विरोधी माने जाने वाली बीजेपी और कांग्रेस ने एक दूसरे से हाथ मिला लिया है। राजस्थान के डुंगरपुर जिले में भारतीय ट्राइबल पार्टी (बीटीपी) द्वारा समर्थित प्रत्याशी को अपने अस्तित्व पर खतरा मानते हुए बीजेपी और कांग्रेस ने हाथ मिलाने का फैसला किया है।

इसे भी पढ़ें:- स्मृति ईरानी की चप्पल पर यूजर ने किया ऐसा कमेंट, सामने आकर केंद्रीय मंत्री ने दिया मजेदार जवाब

इसका कारण है कि हाल ही में जिला परिषद चुनाव में भारतीय ट्राइबल पार्टी ने 27 निर्दलीय उम्मीदवारों का समर्थन किया था, जिसके बाद 13 ने जीत हासिल कर ली थी। इस चुनाव में बीजेपी को 8 और कांग्रेस को 6 सीटें ही प्राप्त हुईं थीं। भारतीय ट्राइबल पार्टी को समर्थन देने वाली सभी 13 जिला परिषद सदस्यों ने अपनी उम्मीदवार पार्वती डोडा का समर्थन किया, तो वहीं बीजेपी-कांग्रेस के सदस्यों ने भाजपा समर्थित निर्दलीय प्रत्याशी सूर्य अहरी को वोट दिए, जिससे बीटीपी को जिला प्रमुख पद पर पहुंचने से रोका जा सके।

मिली जानकारी के अनुसार सूर्य अहरी स्वयं आदिवासी हैं और 12वीं तक पढ़ाई कर चुकी हैं। वे गलियाकोट पंचायत समिति की पूर्व प्रधान भी रही हैं। जिला परिषद के प्रमुख पद के लिए उन्हें बीजेपी और कांग्रेस के कारण 14 वोटों के साथ बहुमत मिला, वहीं बीटीपी समर्थित पार्वती डोडा एक वोट से हार गईं।

बीटीपी के संस्थापक छोटूभाई वसावा ने ट्वीट किया, “बीटीपी नेक है, इसलिए कांग्रेस-भाजपा एक हैं।” उन्होंने पीएम मोदी और राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत को नए गठबंधन के लिए बधाई भी दी। आपको बता दें कि भारतीय ट्राइबल पार्टी के राजस्थान के डुंगरपुर से ही दो विधायक हैं, जो कि राज्य में गहलोत सरकार का समर्थन प्राप्त कर चुके हैं।

आपको बता दें कि गुरुवार को घोषित हुए 21 जिलों के जिला परिषद चुनाव के नतीजों में भाजपा को 353 और कांग्रेस को 252 सीटों पर जीत मिली। भाजपा के 12 जिला प्रमुख बने थे, जबकि कांग्रेस को पांच जिला प्रमुख पद ही मिले है। अब तक केवल एक झालावाड़ जिले में जिला प्रमुख पद का निर्णय नहीं हुआ है। यहां बीजेपी ने 27 में से 19 सीटें प्राप्त की हैं। एक बूथ पर दोबारा मतदान के चलते जिला प्रमुख का चुनाव शुक्रवार यानी आज रखा गया है।

इसे भी पढ़ें:- विपक्ष को मिलेगा नया चेहरा, सोनिया गांधी देंगी इस्तीफा! शरद पवार को मिलेगी कांग्रेस की कमान

Stay Connected

1,097,088FansLike
10,000FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles