लद्दाख विवाद पर गरमाई सियासत, कांग्रेस-बीजेपी की जुबानी जंग के बीच मैदान में उतरीं मायावती, ट्वीट कर कही ऐसी बात

0
182
मायावती

देश में लद्दाख सीमा विवाद पर एक नई राजनीति को जन्म दे दिया है, दरअसल एक ओर चीन सीमा पर नजरें गड़ाए खड़ा है तो वहीं दूसरी ओर देश के भीतर ही कांग्रेस-बीजेपी के बीच आरोप-प्रत्यारोप की सियासत उफान पर पहुंच गई है. इस बीच बहुजन समाजवादी पार्टी की सुप्रीमो बहन मायावती ने दोनों दलों को जमकर फटकार लगाई है. बता दे कि भारत-चीन के बीच लद्दाख सीमा विवाद गहराता जा रहा है, जिसे देखते हुए गलवान घाटी में बड़ी तादाद में सेना तैयार की गई है. हालांकि भारत ने आसमान से निगहबानी भी तेज कर दी है. हाल ही में चिनूक, अपाचे, सुखोई जैसे लड़ाकू विमानों को सीमा पर अलर्ट रखा गया है. लेकिन ये तो रही LAC की बात तो फिर देश के अंदर इन मुद्दों पर सियासत क्यों?. दरअसल कांग्रेस नेता राहुल गांधी लगातार लद्दाख सीमा विवाद पर केंद्र की मोदी सरकार को घेरते चले आ रहे हैं. तो फिर भला बीजेपी क्यों शांत बैठने लगी?, यहां भी आरोपों को दोहराते हुए इतिहास के पन्ने गिनाए गए. जिस पर अब सियासत का बाजार गरमाने लगा है. खुद मायावती इस युद्ध में कूद पड़ीं हैं, उन्होंने कहा है कि बीजेपी और कांग्रेस की आपसी लड़ाई में सिर्फ जनता का नुकसान है.

ये भी पढ़ें:-सीमा विवाद पर मायावती ने दिया बड़ा बयान, कहा- चीन के खिलाफ हर गतिविधि में विपक्ष दे सरकार का साथ

न्यूज एजेंसी (ANI) एएनआई के मुताबिक, मायावती ने कहा कि चीन के मुद्दे को लेकर इस समय देश में कांग्रेस और भाजपा के बीच में आरोप-प्रत्यारोप की जो घिनौनी राजनीति की जा रही है वो वर्तमान में कतई उचित नहीं है. इनकी आपसी लड़ाई का सबसे ज्यादा नुकसान देश की जनता को हो रहा है. इस लड़ाई में देशहित के मुद्दे दब रहे हैं.

बीएसपी सुप्रीमो और उत्तरप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावकी ने कांग्रेस और बीजेपी दोनों पर निशाना साधते हुए घिनौनी राजनीति करने का आरोप लगाया है. इस जुबानी जंग में कई नेताओं के बयान सामने आए हैं.

इससे पहले गृहमंत्री अमित शाह ने लद्दाख में हुई घटना पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी को संसद में बहस करने की चुनौती दी थी, जिसमें उन्होंने कहा था कि 1962 से आज तक आइए दो-दो हाथ हो जाए, जिस पर पलटावर करते हुए राहुल ने ट्वीट किया कि नरेंद्र मोदी वास्तव में Surrender Modi हैं, तब से इन बयानों को लेकर राजनीति अपने चरम पर पहुंच चुकी है.