navjot singh sidhu

बीते कई दिनों से पंजाब कांग्रेस (Congress) में सत्ता संघर्ष चल रहा था, जिसमें नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) विजयी हो गये हैं. कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सूबे का नया प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) घोषित कर दिया है.

सुनील जाखड़ ने खाली किया पद

कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव केसी वेणुगोपाल ने जो सर्कुलर जारी किया इसके अनुसार सुनील जाखड़ जो कि प्रदेश अध्यक्ष थे, उनको हटाकर नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) को नया प्रदेश अध्यक्ष का पद दिया गया है. सिद्धू के साथ साथ संगत सिंह गिलजियां, सुखविंदर सिंह डैनी, पवन गोयल और कुलजीत सिंह नागरा को कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया गया.

‘कैप्टन’ को सिद्धू की नियुक्ति से मिलेगा झटका

navjot singh sidhu

बता दें कि सुनील जाखड़ के कार्यों की सराहना केसी वेणुगोपाल ने बहुत की. इसी के साथ पंजाब (Punjab) में कार्यकारी अध्यक्ष बने कुलजीत सिंह नागरा से सिक्किम, नागालैंड और त्रिपुरा के प्रदेश प्रभारी का पद भी वापस ले लिया है. ऐसा माना जा रहा है कि चुनावों से पहले सिद्धू की पंजाब में हुई ये ताजपोशी कैप्टन अमरिंदर सिंह के लिए झटका साबित होगा.

बताते चलें कि नवजोत सिंह (Navjot Singh Sidhu) बीते दिन दिल्ली पहुचें थे, जहां वो प्रियंका गांधी, सोनिया गांधी और राहुल गांधी से मुलाकात किये थे. तब से ही उन्हें पार्टी का पंजाब अध्यक्ष बनाए जाने की बात चल रही थीं. सिद्धू को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने की चर्चाओं के बाद सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस मामले में अपनी नाराजगी जाहिर की थी और कहा था कि चुनावों से पहले ऐसे किसी फेरबदल से पार्टी को राज्य में क्षति होगी.

sidhu post

दिल्ली में अपने आवास पर पार्टी सांसद प्रताप सिंह बाजवा ने पंजाब (Punjab) से आने वाले कांग्रेस के 9 सांसदों के साथ मुलाकात की. बैठक के अपरांत बाजवा ने कहा कि पंजाब कांग्रेस में गुटबाजी नहीं है. उन्होंने आगे कहा कि चुनाव मुख्यमंत्री के नेतृत्व में लड़ा जाएगा. प्रदेश कांग्रेस (Congress) कमेटी के नए अध्यक्ष की नियुक्ति के बारे में बात करने पर बाजवा बोले कि, ‘पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी की ओर से किया गया कोई भी निर्णय सभी को स्वीकार्य होगा.’

ये भी पढ़ें-‘खुद ही बन गए जांचकर्ता, अभियोजक और जज’- ‘पेगासस प्रोजेक्‍ट’ पर सरकार ने दिया करारा जवाब