modi cabinet

दिल्ली। प्रधानमंत्री मोदी की केन्द्र में दूसरी बार सरकार बनी है, जिसका यह पहला कैबिनेट विस्तार होने जा रहा है। प्रधानमंत्री के इस नई कैबिनेट की तस्वीर कैसी होगी इसको लेकर अनुमान तेज हो गया है। अभी तक माना जा रहा है कि मोदी की नई कैबिनेट में चार पूर्व मुख्यमंत्रियों को जगह मिलने वाली है। कैबिनेट में 13 वकील, छह डॉक्टर, पांच इंजीनियर्स होंगे। कैबिनेट में नये चेहरों के साथ युवाओं को जगह देने की कोशिश की गई है। ज्ञात हो कि 14 मंत्री ऐसे होंगे जिनकी उम्र 50 साल से नीचे होगी। मोदी की नई कैबिनेट में चार पूर्व मुख्यमंत्रियों के साथ-साथ 18 पूर्व राज्य मंत्री होंगे। वहीं 39 पूर्व विधायकों को भी मंत्रिमंडल में जगह मिलेगी। 23 ऐसे सांसद भी हैं जो तीन या उससे ज्यादा बार जीतकर आए सदन में आये हैं।

प्रधानमंत्री मोदी की नई कैबिनेट में जिनको जगह मिलने जा रही है, उसमें से 13 वकील, 6 डॉक्टर, 5 इंजीनियर, 7 पूर्व अधकारी हैं। साथ ही 46 ऐसे हैं जिनको केंद्र सरकार में काम करने का अच्छा अनुभव है। कैबिनेट का सबसे रोचक पहलू औसत उम्र को लेकर है। कैबिनेट की औसत उम्र अब 58 साल है। 14 मंत्री ऐसे होंगे जिनकी उम्र 50 साल से नीचे होगी। मंत्रिमंडल में 11 महिलाओं को जगह दी जाएगी। जो अपनी योजनाओं और भागीदारी निभाएंगी। इसमें से दो महिलाओं को कैबिनेट मंत्री बनाया जाएगा।

ऐसी है सोशल इंजीनियरिंग
मोदी के नए मंत्रिमंडल में 5 अल्पसंख्यक मंत्री होंगे। इसमें 1 मुस्लिम, 1 सिख, 2 बौद्ध, 1 ईसाई को जगह मिलेगी। मंत्रिमंडल में 27 अन्य पिछड़ा वर्ग से मंत्री होंगे, जिनमें से 5 को कैबिनेट मंत्री बनाया जाएगा। शामिल होने वालों में 8 अनुसूचित जनजाति के होंगे, जिनमें से 3 को कैबिनेट मंत्री का दर्जा मिलेगा। 12 अनुसूचित जाति के होंगे, इनमें से 2 को कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया जाएगा।

यह भी पढ़ेंः-मोदी कैबिनेट विस्तार से पहले इन सात मंत्रियों की छुट्टी, जदयू को मिलेंगे चार मंत्री पद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here