Congress President Election 2022 : कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए खड़गे ने भरा पर्चा, दिग्विजय हुए रेस से बाहर बोले, ‘मैंने पूरी जिंदगी कांग्रेस के लिए…’

कद्दावर नेता मलिकार्जुन खरगे कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए नामांकन करेंगे। वही अध्यक्ष पद की रेस में दिग्विजय सिंह ने खुद को बाहर कर लिया है। अब दिग्विजय सिंह अध्यक्ष पद के लिए चुनाव नहीं लड़ेंगे नामांकन नहीं करेंगे।

0
218
Kharge

Congress President Election Bomination : कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए नामांकन शुरू हो चुका है और गांधी परिवार के भरोसेमंद कद्दावर नेता मलिकार्जुन खरगे कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए नामांकन करेंगे। वही अध्यक्ष पद की रेस में दिग्विजय सिंह ने खुद को बाहर कर लिया है। अब दिग्विजय सिंह अध्यक्ष पद के लिए चुनाव नहीं लड़ेंगे नामांकन नहीं करेंगे। अब सिर्फ पीएल पुनिया, प्रमोद तिवारी और खड़गे नामांकन करेंगे। खड़गे के चुनाव लड़ने से गांधी परिवार भी सहमत है। वहीं दिग्विजय सिंह ने बाहर होने के बाद बहुत बड़ा बयान दिया है ।

बाहर होने के बाद दिग्विजय सिंह ने कही बड़ी बात

कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए दिग्विजय सिंह नामांकन नहीं करेंगे इसके बाद उन्होंने बहुत बड़ी बात कह दी है। उन्होंने कहा, ‘मैंने पूरी जिंदगी कांग्रेस के लिए काम किया और आगे भी हमेशा करता रहूंगा। मैंने कभी भी इन तीन चीजों से कभी समझौता नहीं किया दलितों और आदिवासियों गरीबों के लिए खड़ा होना। नेहरू परिवार के प्रति समर्पण । उन्होंने कहा Degvijay singhखड़ी गए जी मेरे सीनियर है मैं उनके कल आवास पर गया था मैंने उनसे कहा कि अगर वह कांग्रेस पद के लिए नामांकन कराएं तो मैं नहीं करूंगा मैं उनके खिलाफ नहीं लडूंगा लेकिन उन्होंने कहा मैं ऐसा नहीं कर रहा हूं। लेकिन मुझे जब पत्रकारों से मालूम हुआ कि वह नामांकन कर रहे हैं । तो मैंने उनसे कहा कि मैं उनके साथ खड़ा हूं और उनके खिलाफ कभी भी चुनाव नहीं लड़ सकता।’

गांधी परिवार के भरोसेमंद नेता है खड़गे

आपको बता दें मल्लिकार्जुन खड़गे कांग्रेस के बहुत भरोसेमंद नेता हैं। वह दलित समाज से आते हैं और विपक्षी नेताओं से भी उनके अच्छे संबंध हैं। लेकिन सभी लोगों के मन में अब एक ही सवाल है कि क्या अब उन्हें प्रतिपक्ष नेता के पद से Millikarjun khargeइस्तीफा देना होगा क्योंकि अगर वह अगर कांग्रेस अध्यक्ष बनते हैं तो उन्हें राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष का पद छोड़ना होगा क्योंकि कांग्रेसमें एक ही पद का सिद्धांत है।

Rrad More-चीता मित्रों से आखिर PM मोदी ने ऐसा क्यों कहा कि, मेरे रिश्तेदार भी आ जाए तो भी यहां घुसने मत देना, जाने वजह