Pm modi mahbuba mufti

दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के नेताओं के साथ 24 जून को प्रधानमंत्री मोदी बड़ी बैठक करने वाले हैं। बैठक से पहले शनिवार को महबूबा मुफ्ती के मामा और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के नेता सरताज मदनी को रिहा कर दिया गया है। सरताज मदनी गत छह महीने से नजरबंद थे। सरताज मदनी की रिहाई पर पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती ने शेष नेताओं की रिहाई की मांग भी की। महबूबा ने ट्वीट कर लिखा है कि राहत की बात है कि पीडीपी के नेता सरताज मदनी को छह महीने तक हिरासत में रखने के बाद रिहा कर दिया गया। उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है कि भारत सरकार जम्मू-कश्मीर की जेलों के अंदर और राजनीतिक बंदियों को रिहा करे। महबूबा ने कहा कि महामारी के दौरान ही उन्हें रिहाई कर देना चाहिए था। ज्ञात हो कि जम्मू-कश्मीर में राजनीतिक अनिश्चितता के माहौल को दूर करने के लिए 24 जून को पीएम मोदी ने ऑल पार्टी मीटिंग बुलाई है। यह बैठक दिल्ली में होगी जिसमें सभी राजनीतिक दल शामिल होंगे। बैठक के लिए राजनीतिक दलो 14 नेताओं को फोन से भी सूचित किया गया है। इन सभी से आरटीपीसीआर की निगेटिव रिपोर्ट लाने को भी कहा गया है। बैठक में शामिल होने वालों को आरटीपीसीआर की निगेटिव रिपोर्ट लाना आवश्यक है।

प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में होने वाली इस मीटिंग में महबूबा मुफ्ती शामिल होंगी या नहीं, इसके लिए महबूबा रविवार को पार्टी के नेताओं के साथ बैठक कर रही हैं। महबूबा ने बताया कि प्रधानमंत्री के साथ बातचीत को लेकर अभी कोई एजेंडा साफ नहीं है। उन्होंने कहा कि मैंने अपनी पार्टी की पॉलिटिकल अफेयर्स कमेटी से इस पर चर्चा करने के लिए बैठक करने को कहा है।

ज्ञात हो कि 5 अगस्त 2019 को जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले आर्टिकल 370 को हटा दिया गया था। आर्टिकल 370 हटने के बाद से यहां राजनीतिक अस्थिरता का माहौल बना हुआ है। आर्टिकल 370 हटने के बाद जम्मू-कश्मीर के नेताओं के साथ बातचीत की केंद्र की बड़ी पहल है।

ये भी पढ़ेंः-up unlock : यूपी में 21 जून से खुलेगें मॉल और रेस्टोरेंट, बदला गया नाइट कर्फ्यू का समय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here