गुलाम नबी आजाद को मनाने में जुटा गांधी परिवार, इस लेवल पर पहुंचा विवाद!

227

कांग्रेस पार्टी में इन दिनों अपने वजूद की लड़ाई चरम पर पहुंच चुकी है, बीते दिनों (CWC) कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक के बाद गांधी परिवार में सियासी घमासान देखने को मिला। बता दें कि पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को एक शिकायत पत्र भेजा था। जिसमें नेताओं ने कई संवेदनशील मुद्दों को आलाकमान के समक्ष रखा, लेकिन कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने इस लेटर का गलत मतलब निकालते हुए उल्टा अपनी पार्टी के नेताओं पर बीजेपी से साठगांठ करने का आरोप लगा दिया। राहुल गांधी के इस बयान के बाद पार्टी में हलचल तेज हो गई, कई नेताओं ने राहुल के इस बयान पर अपनी नाराजगी व्यक्त की। इतना ही नहीं पार्टी के वरिष्ठ नेताओं में से एक गुलाम नबी आजाद भी राहुल के इस रवैये से नाराज दिखे। उन्होंने एक निजी चैनल को इंटरव्यू देते हुए यह तक कह दिया कि यदि ”मेरा बीजेपी से साठगांठ का कोई भी कनेक्शन मिलता है, तो वह तुरंत पार्टी से इस्तीफा दे देंगे”। फिर क्या था गुलाम नबी आजाद की यह बात सुनकर पार्टी आलाकमान को जोर का झटका लगा। बताया जा रहा है कि गांधी परिवार अब गुलाम नबी को मनाने में जुटा है।

ये भी पढ़ें:-राहुल गांधी के बयान के बाद कांग्रेस में घमासान! गुलाम नबी आज़ाद इस्तीफा देने को तैयार, कहा- बीजेपी से..

सूत्रों के अनुसार, सोमवार शाम को पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने गुलाम नबी आजाद से फोन कर बात की। हालांकि, यह पता नहीं चल सका है कि दोनों नेताओं के बीच क्या बातचीत हुई है।

बताया जा रहा है कि गांधी परिवार किसी भी कीमत पर पार्टी के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद को रूठने नहीं देना चाहता है। चूंकि एक महीने के अंदर ही संसद का मानसून सत्र शुरू होने वाला है।

ऐसी स्थिति में कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व यह नहीं चाहता कि पार्टी की एकता को खतरा हो या संसद में उनकी आवाज कमजोर पड़े।

मालूम हो कि गुलाम नबी आजाद राज्य सभा में विपक्ष के नेता के साथ संसद में कांग्रेस की दमदार आवाज भी हैं। इससे पहले वे जम्मू और कश्मीर राज्य के मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं।

ये भी पढ़ें:-कांग्रेस में क्या बच पाएगी गांधी परिवार की सत्ता? अहमद पटेल बोले- ‘गैर गांधी भी चलेगा’