up-election-

लखनऊ। देश में अगले साल की शुरुआत में 5 राज्यों के विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। विधानसभा चुनाव लिए तैयारियां अब जोर पकड़ने लगी हैं। 28 जुलाई को गोवा, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश और पंजाब के मुख्य निर्वाचन अधिकारियों की केन्द्रीय चुनाव आयोग के साथ समीक्षा बैठक हुई है। इसी बैठक के बाद अब उत्तर प्रदेश में चुनाव की तैयारियां शुरू हो गयी हैं। उत्तर प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय शुक्ल 3 या 4 अगस्त को चुनाव की तैयारियों को आगे बढ़ाने के लिए सभी जिलाधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करेंगे। वह सभी अधिकारियों को चुनाव से सम्बंधित निर्देश भी जारी करेंगे।

यूपी समेत इन पांच राज्यों में है विधानसभा चुनाव
गोवा विधानसभा का कार्यकाल अगले साल 15 मार्च को, मणिपुर विधानसभा का कार्यकाल 19 मार्च को, उत्तराखंड विधानसभा का कार्यकाल 23 मार्च और पंजाब विधानसभा का कार्यकाल 27 मार्च को पूरा हो रहा है। उत्तर प्रदेश विधानसभा का कार्यकाल 14 मई को पूरा होगा। ऐसे में विधानसभा का कार्यक्रम पूरा होने के साथ ही नयी विधानसभा का गठन होना है। चूंकि यूपी छोड़कर अन्य चारों राज्यों में विधानसभा चुनाव मार्च में ही करवाए जाने जरूरी हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि उत्तर प्रदेश का विधानसभा चुनाव भी इन चार राज्यों के साथ ही करवाए जाएंगे।

प्रदेश में 6 चरणों में हो सकता है चुनाव
गोवा, उत्तराखंड, मणिपुर और पंजाब की अपेक्षा उत्तर प्रदेश का चुनाव थोड़ा मुश्किल होता है। उत्तर प्रदेश में फरवरी से शुरू होकर अप्रैल तक छह चरणों में चुनाव प्रक्रिया संपन्न हो सकती है। गोवा, उत्तराखंड, मणिपुर और पंजाब के चुनाव एक चरण में ही समाप्त हो सकते हैं। चुनाव तैयारियों के तहत निर्वाचन अधिकारी कार्यालय में मतदान केन्द्रों और पोलिंग बूथों के चिन्हांकन और उसके बाद मतदाता सूची के पुनरीक्षण के कार्यक्रम को अंतिम रूप दिया जा रहा है। अभी चुनाव की घोशणा की जानी बाकी है।

यह भी पढ़ेंः-गृह मंत्री अमित शाह आज रहेंगे UP दौरे पर, मिशन 2022 विधानसभा चुनाव का करेंगे शंखनाद