वैशाली से अमित शाह की घोषणा, कहा- बिहार में नीतीश के ही नेतृत्व में विधानसभा चुनाव लड़ेंगे

248
Amit shah

नागरिकता संशोधन कानून की एक रैली को संबोधित करने बिहार के वैशाली पहुंचे अमित शाह ने एक बार हुंकार भरते हुए लोगों को शांत करा दिया है कि वो एनडीए के नेतृत्व में ही विधानसभा का चुनाव लड़ेंगे. बता दें कि सीएए पर हुए विरोध के बाद ये कयास लगाए जा रहे थे, कि बीजेपी शायद NDA से अलग होकर चुनाव लड़ने का प्लान बनी रही है, लेकिन अमित शाह के हालिया बयान के बाद इस पर सवाल उठने बंद हो गए हैं और इस बात की पुष्टि हो गई है, कि भाजपा बिहार का विधानसभा चुनाव नीतीश के ही नेतृत्व में लड़ेगी.

इस दौरान सभा में आए लोगों को संबोधित करते हुए अमित शाह ने ये भी कहा कि राहुल गांधी और लालू प्रसाद नागरिकता को लेकर लोगों में भ्रम फैलाना छोड़ दें. इस कानून को लाकर किसी से नागरिकता छीनी नहीं बल्कि दी जा रही है. इसके बाद भी अमित शाह चुप नहीं हुए, आगे उन्होंने ये भी कहा कि सीएए के खिलाफ दंगा करवाने के पीछे विपक्ष का ही हाथ था. इसलिए लोगों को जागरूक करने के लिए बीजेपी को पूरे देशभर में अलग-अलग जगह जाकर रैली करके लोगों को इस कानून के बारे में समझाना पड़ा.

इसके साथ ही भाषण में आगे अमित शाह ने ये भी बताया कि ये कानून उन लोगों की मदद के लिए लाया गया है, जिनके सामने ही उनकी महिलाओं के साथ बलात्कार जैसी घटनाओं को अंजाम दिया गया. यहां तक कि उन लोगों की विरासत को उनसे छीन लिया गया. और तो और उनके पूजा स्थलों को तबाह कर दिया गया, जिसके बाद उन्हें भारत में शरण लेनी पड़ी. इसके बाद जेएनयू में देश विरोधी नारे लगने का जिक्र करते हुए अमित शाह ने कहा, जिन्होंने इस की हरकत की थी उन्हें पीएम के द्वारा जेल भाज दिया गया था, लेकिन केजरीवाल ने तो उनके खिलाफ मुकदमा करने से ही इनकार कर दिया.

ये भी पढ़ें:- CAA पर अमित शाह ने भरी हुंकार, कहा- एक इंच भी पीछे नहीं हटेंगे, न ही कानून रद्द करेंगे