उन्नाव कांड : तीसरी किशोरी ने दर्ज कराया बयान, डीएनए टेस्ट की तैयारी

asoha

उन्नाव। असोहा थाने के बबुरहा गांव के एक खेत में दो लड़कियों की मौत और एक की स्थिति गंभीर होने के साजिश की और परते खुलती जा रही हैं। कानपुर रीजेंसी अस्पताल में भर्ती तीसरी किशोरी ने बुधवार को अपना बयान दर्ज कराया है। लड़की ने बयान में कहा है कि वह तीनो खेत पर काम करने गयी थीं लम्बू और उसका नाबालिग साथी पास के ही खेत में पहले से मौजूद थे। उन दोनों ने पहले नमकीन खिलाने की कोशिश की। नमकीन खाने से इनकार करने पर बोतल का पानी पीने का दिया। किशोरी ने बताया कि जब हम तीनों ने पानी पीया तो बेहोश हो गये। किशोरी ने बताया कि पानी में जहर जैसा कुछ जैसा था। पुलिस ने बताया कि असोहा हत्याकांड में सल्फो सल्फ्युरान पिलाया गया था। सल्फो सल्फ्युरान ही दोनो किशोरियों की मौत का कारण बन गया। यह खर-पतवार नाशक दवा गंधरहित होने से पानी पानी में घुल गयी और दोनों किशोरियों को पिला दिया। लड़की ने कहा कि हम तीनों के साथ यौन उत्पीड़न जैसा कुछ भी नहीं हुआ है।

यह भी पढ़ेः-उन्नाव मामले का खुलासा, एकतरफा प्यार में दो किशोरियों की हत्या को दिया था अंजाम

किशोरी का बयान और पुलिस का खुलासे की कहानी एक जैसी है। असोहा हत्याकांड में पुलिस पुरी तैयारी कर चुकी है। आरोपियों का डीएनए जांच करायी जाएगी। डीएनए जांच रिपोर्ट से पर आरोपियों के साक्ष्यों को मिलाया जाएगा। माना जा रहा है कि डीएनए जांच से साक्ष्यों व गवाहों को बल मिलेगा। आरोपियों को सजा दिलाने की दिशा पर काम तेज होगा। मामले के छठवेें दिन बिसरा रिपोर्ट आ चुकी है।

पुलिस ने पानी की भी कराई जांच थी। पुलिस अधीक्षक आनन्द कुलकर्णी ने बताया कि रीजेंसी में तीसरी किशोरी का इलाज किया जा रहा है। लड़की अब स्वस्थ है। लड़की ने अपना बयान दर्ज कराया है। उसने पानी में जहर मिला कर देने की बात को बताया है। लड़की ने बताया कि उन तीनों के साथ कोई यौन उत्पीड़न नहीं हुआ है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मामले जांच चल रही है।

यह भी पढ़ेः-उन्नाव में चढ़ा सियासी रंग, पूर्व सांसद को विधायक समर्थकों ने खदेड़ा…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *