लीमिट से अधिक कैश में लेनदेन करना हुआ महंगा, अब देना पड़ेगा भारी भरकम जुर्माना.. वो भी इतना की..

485

सितंबर का महीना और तारीख 1, अपने साथ मानो परिवर्तन की बयार लेकर आया हो। एक तरफ जहां ट्रैफिक नियमों में इतने कड़े और बड़े बदलाव हुए हैं कि लोगों में हाय तौबा मचा हुआ है तो वहीं आर्थिक लेने-देने में भी सितंबर का महीना एक आमूलचूल बदलाव लेकर आया है। यहां हम आपको बताते चलें कि अब अगर आप सीमा से अधिक कैश में लेने-देने करेंगे तो आपको देना पड़ जाएगा (टीडीएस) यानी टैक्स डीडिक्शन सोर्स। मतलब साफ है… कि अब आपको बताना पड़ेगा कि आपके पास इतना कैश या, जितना भी कैश है, वो कहां से आया है। ये भी पढ़े :बनारस की बहू ने बढ़ाया देश का मान, वर्ल्ड बैंक की मैनेजिंग डायरेक्टर बनीं

हालांकि, आप अपने घर कितना भी कैश रखें। इसपर कोई पाबंदी नहीं है। लेकिन हां..जब आप इन्हीं कैशों का इस्तेमाल आर्थिक लेने-देने के लिए करते हैं तो फिर आपको टीडीएस देने पड़ेगा, तो चलिए जानते हैं कि आखिर किन-किन चीजों में टीडीएस देना पड़ जाएगा।

पहला : अगर आपने लोन कैश में लिया, तो क्या होगा?
यहां हम आपको बता दें कि अगर आप 20,000 तक का लोन कैश में लेते हैं तो कोई दिक्कत नहीं है। लेकिन हां..अगर आप 20,000 से अधिक लोन कैश में लेते हैं तो फिर आपको 100 फीसद पैनल्टी देनी पड़ जाएगी। अगर आप 2,000 रूपए तक लोन कैश में लेते हैं तो आपके लिए कोई दिक्कत नहीं है। वहीं, अगर आप 2000 से ज्यादा का डोनेशन कैश में देते हैं तो आपको 80जी इनकमेट टैक्स देना पड़ जाएगा।

दूसरा सवाल : आप घर में कितना कैश रख सकते हैं ?
अब यहां सवाल पैदा होता है कि आखिर आप घर में कितना कैश रख सकते हैं। आखिर इसकी सीमा क्या है? इस सन्दर्भ में कर विशेषज्ञों का कहना है, ‘आखिर अभी तक इसकी कोई सीमा तय नहीं हो पाई है कि आप कितना कैश अपने घर पर रख सकते हैं। मान लीजिए, अगर आप कुछ ज्यादा ही कैश रखते हैं तो आपको इसका सोर्स बताना होगा, न बताने पर आपको भारी भरकम जुर्माना देना पड़ सकता है।

तीसरा सवाल : बैंक में कैश जमा कराने पर आखिर नियम क्या है?
टैक्स एक्सपर्ट का कहना है कि कैश निकासी पर कोई टैक्स नहीं देना होता है, लेकिन 2019 के बजट में कैश निकासी पर टैक्स लगाया गया है। 1 सितंबर से लागू नियमों के मुताबिक, 1 करोड़ से ज्यादा कैश निकालने पर 2 फीसद टीडीएस देना होगा। हालांकि, बैंक में कैश जमा कराने की कोई सीमा नहीं है, लेकिन इसका स्रोत तो आपको बताना ही होगा, कि आपके पास इतना रोकड़ आखिर आया कहां से ?

संपत्ति बेचने पर सिर्फ इतना ही लेने-देने कैश में कर सकते हैं।
इसके साथ टैक्स एक्सपर्ट का कहना है कि अगर संपत्ति के क्रय-विक्रय से आप सिर्फ 20,000 ही प्राप्त कर सकते हैं। इसके इतर अगर आप कैश में लेने-देने करते हैं तो आपक 100 फीसद जुर्माना देना पड़ जाएगा। ये भी पढ़े :कर्नाटक में हड़कंप; टायर काटते ही निकले 2000 के नोटों के बंडल, 2.4 करोड़ कैश जब्त