Thursday, February 2, 2023

आज कुंभ में 80 लाख श्रद्धालु लगाएंगे डुबकी, जानिए माघी पूर्णिमा की खास बातें

Must read

- Advertisement -

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए बड़े आतंकी हमले में देश के लगभग 47 जवान शहीद हो गए. और इतनी बड़ी घटना के होने के बाद भारत सुरक्षा को लेकर काफी चौकन्ना हो गया है. इसी के तहत विश्व के सबसे बड़े आध्यात्मिक कुंभ मेले के पांचवें मुख्य स्नान पर्व माघी पुर्णिमा के स्नान के लिए प्रशासन ने सुरक्षा को लेकर कड़े इंतजाम किए हैं. दरअसल आज माघी पुर्णिमा है. और भारी संख्या में श्रद्धालु कुंभ में पहुंचकर आस्था की डुबकी लगा रहे है. बताया जा रहा है कि आज के दिन करीब 60 से 70 लाख श्रद्धालु इस इस गंगा और संगम में स्नान कर सकते हैं. इनके लिए मेला में पूरी तरीके से सुरक्षा की व्यवस्था की गई है. पुलिस-प्रशासन के अलावा भी कई सुरक्षा एजेंसियों के जवान लगातार अपनी नजर इस पर बनाए हुए हैं.

- Advertisement -

कुम्भ मेला के अधिकारी विजय किरण आनंद ने इस बारे में जानकारी देते हुए सोमवार को बताया था कि अगर कहीं भी, और सुरक्षाबलों की जरूरत पड़ी तो रिजर्व और फोर्स की तुरंत तैनाती की जाएगी. इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि फिलहाल अभी मेला के लिए पर्याप्त बल है. और मेला क्षेत्र में 96 कन्ट्रोल वाच टावर भी स्थापित किए गए हैं. साथ ही कुंभ मेले में 440 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं, जिसके जरिए पूरे मेला क्षेत्र पर निगरानी रखी जा रही है. मेलाधिकारी ने बताया कि त्रिवेणी स्नान के लिए सुबह से श्रद्धालुओं का जमावड़ा लगा हुआ है. देर शाम तक करीब 60 से 70 लाख लोगों के स्नान करने की संभावना है. उन्होंने कहा कि रेल गाडियों में सीमित भीड़ आती है जबकि निजी वाहन जैसे ट्रैक्टर, जीप, बस आदि से 90 प्रतिशत श्रद्धालु संगम पहुंच रहे हैं.

इसके अलावा मेला के बारे में बताते हुए आनंद ने कहा कि मकर संक्रांति, बसंत पंचमी और मौनी अमावस्या स्नान पर जो व्यवस्थाएं की गई थीं, उसमें से इस बार कई तरीकों को बदल दिया गया है. मंगलवार का स्नान, शाही स्नान नहीं होने के कारण अखाड़ा मार्ग पर शहर के चौराहों पर भीड़ को नियंत्रित करने के लिए तैनात किया गया है. इसके साथ ही कुम्भ मेला के डीआईजी के पी सिंह ने कहा कि मेला प्रशासन की सबसे बड़ी जिम्मेदारी श्रद्धालुओं को स्नान के बाद सुरक्षित उनके गंतव्य प्रस्थान की सुविधा देना है. और दूर-दराज से आए श्रद्धालुओं के लिए कई मेला विशेष ट्रेनों के साथ ही राज्य परिवहन निगम ने अलग-अलग दिशाओं में रोडवेज की बसों का संचालन शुरू किया है.

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article