बिना लाइसेंस ड्राइविंग करने वालों की खैर नहीं, 1 सितंबर से लगेगा 5 हजार का जुर्माना

527

यूपी। केंद्र सरकार ने 1 सितंबर 2019 से संशोधित मोटर व्हीकल एक्ट 2019 के 63 उपबंधों को लागू करने को लेकर नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। यह सभी 63 उपबंध यातायात नियमों के उल्लंघन पर जुर्माने संबंधी हैं। सरकार की ओर से जारी बयान के अनुसार, यह नए उपबंध 1 सितंबर 2019 से लागू हो जाएंगे। इसे भी पढ़ें : तीन तलाक कानून पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को भेजा नोटिस, मांगा जवाब

बता दें कि सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय की ओर से जारी बयान के अनुसार, यह ऐसे उपबंध हैं। जिन्हें लागू करने के लिए केंद्रीय मोटर व्हीकल रूल्स 1989 में बदलाव करने की जरूरत नहीं है। मंत्रालय ने कहा है कि संशोधित मोटर व्हीकल एक्ट 2019 के अन्य उपबंधों को लागू करने के लिए ड्राफ्ट तैयार किया जा रहा है। जैसे ही ड्राफ्ट तैयार होगा, वैसे ही अन्य उपबंधों को लागू करने के लिए नोटिफिकेशन जारी कर दिया जाएगा।

दरअसल, मंत्रालय के बयान के अनुसार, नए उपबंध जुर्माना, लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन, नेशनल ट्रांसपोर्ट पॉलिसी आदि से संबंधी है। नए नियमों के अनुसार, यदि कोई बिना लाइसेंस गैर अधिकृत वाहन चलाता पकड़ा जाता है तो उस पर 5 हजार रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा। अभी यह जुर्माना राशि 1 हजार रुपए है। बिना लाइसेंस वाहन चलाने पर भी 500 की बजाए 5 हजार रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा। इसे भी पढ़ें : तीन तलाक पर मोदी-नीतीश में ठनी..JDU नहीं देगी केंद्र सरकार का साथ

मीडिया से मिली जानकारी के मुताबिक, शराब पीकर वाहन चलाते समय पहली बार पकड़े जाने पर 6 माह की जेल या 10 हजार रुपए का जुर्माना और दूसरी बार पकड़े जाने पर 2 साल की जेल और 15 हजार रुपए के जुर्माने का प्रावधान है। नए उपबंध राज्य सरकारों को ओवरलोड वाहनों को पकड़ने के लिए अलग व्यक्ति या एजेंसी की एनफोर्समेंट एजेंसी के रूप में नियुक्त करने की शक्ति भी देता है।

बता दें कि मोटर व्हीकर (संशोधित) बिल 2019 इसी माह की शुरुआत में संसद से पारित हुआ था।