HomeBreaking Newsभारत के वो 7 योग गुरू...जिनकी विलक्षण प्रतिभा को दुनिया ने किया...

भारत के वो 7 योग गुरू…जिनकी विलक्षण प्रतिभा को दुनिया ने किया प्रणाम

- Advertisement -

विश्वभर में 21 जून यानी की आज के दिन योग दिवस मनाया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद ने आज झारखंड की राजधानी रांची में मुख्यमंत्री रघुवर दास के साथ सुबह हजारों लोगों के बीच योग किया। इसी कड़ी में तमाम बड़े- बड़े नेताओं ने भी कई जगह पर योग करते नजर आए। जिसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी का नाम शामिल है। लेकिन इन सबके बीच आज कई ऐसे लोग है जिनका नाम योग के क्षेत्र में अमर है। जिसमें सबसे पहले नाम बाबा रामदेव का नाम आता है। जिन्होंने भारत की पंरपंरा योग को बड़ी ही मेहनत से आगे बढ़ाया। इतना ही नही, बाबा रामदेव ने अपने प्रवचनों में भी योग की ही बड़ा साधन बताया। लेकिन इनके अलावा और भी कई ऐसे साधु संत है। जो योग के लिए काफी फेमस है। जिनके बारें में आज हम आपको बताएंगे। इस खास मौके पर हम आपको बताते हैं उन 7 योग गुरुओं के बारे में, जिनकी बदौलत योग पूरी दुनिया में मशहूर हो गया।

धीरेंद्र ब्रह्मचारी
धीरेंद्र ब्रह्मचारी इंदिरा गांधी के योग टीचर थे। और इसके लिए वह मशहूर भी थे। धीरेंद्र ब्रह्मचारी ने अपनी शुरूआत दूरदर्शन चैनल से की थी। दूरदर्शन से ही इन्होंने योग को आगे बढ़ाने का काम शुरू किया था। धीरेंद्र ब्रह्मचारी इतना ही नहीं, दूरदर्शन के अलावा इन्होंने दिल्ली के स्कूलों और योग को विश्वयातन योगआश्रम में योग को शुरू करवाया है। वही इन्होंने योग पर हिंदी और अंग्रेजी में कई किताबे लिखी है। जम्मू में उनका एक आलीशान आश्रम भी है।

बीकेएस अयंगर
योगी के क्षेत्र में बी.के.एस अंयगर का नाम काफी विख्यात है। इन्होंनृ योग को दुनियाभर में पहचान दिलाने में एक अहम भूमिका निभाई है। अंयगर का योग स्कूल भी था। जो इन्ही के नाम से चलता था। बीकेएस अयंगर इस स्कूल के जरीए ही उन्होंने योग को दुनिया में पहचान दिलाई। साल 2004 में ‘टाइम मैगजीन’ ने उनका नाम दुनिया के टॉप 100 प्रभावशाली लोगों में शुमार किया गया था। इसके अलावा उन्होंने पतंजलि के योग सूत्रों को नए सिरे से परिभाषित किया। ‘लाइट ऑन योग’ के नाम से उनकी एक किताब भी है, जिसको योग बाइबल माना जाता है।

महर्षि महेश योगी
महर्षि महेश योगी देश और दुनिया में ‘ट्रांसैडेंटल मेडिटेशन’ के जाने-माने गुरु थे। कई सेलिब्रिटीज भी उन्हें अपना गुरु मानते हैं। महर्षि महेश योगी दुनियाभर में वो अपने योग से जाने जाते हैं। श्री श्री रविशंकर भी महर्षि महेश योगी के शिष्य हैं।

तिरुमलाई कृष्णमचार्य
तिरुमलाई कृष्णमचार्य ने आधुनिक योग को काफी बढ़ावा दिया है। जिसके चलते उन्हें आधुनिक योग का पिता भी कहा जाता है। इन्होंने हठयोग और विन्यास को फिर से जीवित किया था। तिरुमलाई कृष्णमचार्य तिरुमलाई कृष्णमचार्य को आयुर्वेद की भी जानकारी थी। इलाज के लिए उनके पास आए लोगों को वो योग और आयुर्वेद की मदद से ही ठीक किया करते थेय़ उन्होंने मैसूर के महाराजा के राज के समय में पूरे भारत में योग को एक नई पहचान दिलाई थी।

कृष्ण पट्टाभि जोइस
कृष्ण पट्टाभि जोइस भी एक बड़े योगगुरु थे. उनका जन्म 26 जुलाई 1915 और मत्यु 18 मई 2009 को हुई थी। कृष्ण पट्टाभि जोइस कृष्ण ने अष्टांग विन्यास योग शैली विकसित की थी। उनके अनुयायियों में मडोना, स्टिंग और ग्वेनेथ पाल्ट्रो जैसे बड़े नाम शुमार थे।

परमहंस योगानंद
परमहंस योगानंद अपनी किताब ‘ऑटोबायोग्राफी ऑफ अ योगी’ के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने पश्चिम के लोगों को मेडिटेशन और क्रिया योग से परिचित कराया। परमहंस योगानंद इतना ही नहीं, परमहंस योगानंद योग के सबसे पहले और मुख्य गुरू है। उन्होंने अपना ज्यादातर जीवन अमेरिका में गुजारा था।

स्वामी शिवानंद सरस्वतीस्वामी शिवानंद सरस्वती पेशे से डॉक्टर थे। उन्होंने योग, वेदांत और कई अन्य विषयों पर लगभग 200 से ज्यादा किताबें लिखी हैं।  ‘शिवानंद योग वेदांत’ के नाम से उनका एक योग सेंटर है। उन्होंने अपना पूरा जीवन इसी सेंटर को समर्पित कर दिया था। उन्होंने योग के साथ कर्म और भक्ति को एकजुट कर के दुनियाभर में योग का प्रचार किया था। ये भी पढ़ें:-योग दिवस पर रोहतक में चटाई की लूट;अमित शाह और सीएम मनोहर भी दंग रह गए

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here