इस शख्स ने रची अपनी हत्या की साजिश, जाने क्या है पूरा मामला

0
239

काफी हैरान करने वाला मामला सामने आया है। हालांकि, अमूमन हैरान करने वाले मामने सामने आते ही रहते हैं। लेकिन, ये मामल उन सभी मामलों से मुख्तलिफ़ हैं, जो हमेंं हैरान करने का काम करते हैं। ये मामला है राजस्थान के भीलवाड़ा का, यहां पर एक शख्स ने खुद को मारने की साजिश रची। वो भी महज इसलिए, क्योंकि वो अपने परिवार को आर्थिक रूप से सबल बनाना चाहता था। उनकी मदद करना चाहता था। उनके तमाम समस्याओं का निदान करना चाहता था। इसलिए उसने खुद को खत्म करवाना कहीं अधिक मुनासिब समझा। ये भी पढ़े :चलती मेट्रो के आगे 26 वर्षीय युवती ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में बताई इसके पीछे की वजह 

दरअसल, वो शख्स (बलबीर) लगातार कर्ज के बोझ तले दबा जा रहा था। अब वो आर्थिक तौर पर इतना सबल नहीं रहा था कि वो अपने तमाम कर्जों को अपने बलबूते उतार सके। घर की आर्थिक स्थिति भी काफी बदतर हो चुकी थी। प्राय: कई आम लोगों की तरह उसका भी बीमा था। बीमा की कुल क्लेम 50 लाख रूपए का था। उसने सोचा की अगर वो खुद की हत्या करवा ले, तो ये रकम उसके परिवार को मिल जाएगी, और उनकी काफी मदद हो जाएगी। वो काफी सबल हो जाएंगे। उनका समस्याओं का निदान हो जाएगा। अब कर्जदार घर में कर्जा मांगने नहीं आएंगे। कर्जदारों का फोन नहीं आया करेगा। लिहाजा, इस शख्स ने अपनी जीवन लीला को विराम देना कहीं अधिक मुनासिब समझा।

अब इसने अपनी हत्या की साजिश रची। साजिश के तहत उनसे दो लोगों को अपनी हत्या के लिए सुपारी दी। बलवीर ने कहा कि अगर तुम मेरी हत्या करोगे तो मैं तुम्हे 80,000  रूपए की सुपारी दूंगा। इसके लिए बलवीर ने यूपी से सुनील यादव और राजवीर को बुलाया। दोनों ने ही मिलकर बलवीर ही हत्या कर दी। अभी सात दिन पहले ही बलवीर का शव मिला था, जिसमें उसके हाथ और पैर में बिजली के तार बंधे हुए थे और उसका गला दबाया हुआ था।

वहीं, जब पुलिस के सामने ये पूरा मामला सामने आया, तो पुलिस भी काफी हैरान हो गई। इसके साथ ही जैसे इस पूरे ही मामले की जानकारी बलवीर के परिजनों को हुई तो उन्होंने इस बात से साफ इनकार कर दिया कि बलवीर का बीमा क्लेम भी था। परिजनों का कहना है कि बलवीर ने हमें आज तक नहीं बताया कि उनका कोई बीमा भी था।

इन सभी हत्याकांड के पीछे बलवीर का मुख्य उद्देशय था कि वो अपनी इस हत्या से, जो बीमा क्लेम उसे मिले। वो उनके परिवार को मिल जाए, ताकि उनकी समस्याओं का निदान हो सके और कोई कर्जदार उन्हें परेशान करने के लिए घर न आए। फिलहाल, पुलिस ने दोनों ही आरोपियों को हिरासत में ले लिया है। पुलिस का भी कहना है कि इन तमाम हत्याकांड के पीछे मृतक का मूल उद्देश्य यही था कि बीमा की रकम उसके परिवार को मिल जाए। पुलिस के मुताबिक, मृतक काफी दिनों से परेशान चल रहा था। उसने काफी लोगों से कर्ज ले लिया था, जिसे चुकाने में वो अब असमर्थ हो चुका था। ये भी पढ़े :रेलवे यार्ड में ले जाकर मासूम की हत्या, शरीर पर मिले दांतो के निशान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here