दरवाजे पर पहुंची बारात अचानक वापस लौटी, साहसी दुल्हन की हो रही है तारीफ

0
315
3-547

शादी के माहौल में नाबालिग की शादियों की कहानियां भी सामने आती है। लेकिन इसमें एक बेटी की हिम्मत की कहानियां सामने आई है। रांची के जामू गांव में 17 साल की कविता ने हिम्मत करके शादी के दिन फरार हो गई। इससे उसने खुद को बालिका वधू बनाने से बचा लिया।

दरअसल कविता ने हाल में मैट्रिक की पढ़ाई पूरी की है और वो अब आगे पढ़ना चाहती है लेकिन घरवालों ने जबरदस्ती उनकी शादी पक्की कर दी। जिसके चलते बुधवार रात बारात घर पहुंच गई। सभी लोग शादी के जश्न में नाच गा रहे थे। लेकिन मौका मिलते ही कविता अपनी शादी से भाग कर पुलिस स्टेशन चली गई। जहां पर कविता ने अपनी आपबीती बताई।

लड़की ने पुलिस को बताया कि पढ़ाई पूरी करने के बाद वह अपने पसंद के लड़के के साथ शादी करना चाहती है। माता -पिता ने उसकी मर्जी के खिलाफ उसकी शादी तय कर दी थी। उसने इस वर्ष मैट्रिक की परीक्षा दी है। वह घर में भी शादी का विरोध कर रही थी, लेकिन परिवार वाले उसकी बात नहीं सुन रहे थे। सीडब्ल्यूसी अध्यक्ष रूपा सामंता ने बताया कि नाबालिग को फिलहाल चाइल्ड लाइन में रखा गया है।

हालांकि शादी के समय लड़की को घर में न देख परिवारवालों के भी होश उड़ गए। वही लोगों को पता चला तो शादी को जश्न मातम में बदल गया। न ही लोगों को और न ही दुल्हे को कुछ समझ आ रहा था। कुछ समय बात दुल्हा ही बारात लेकर चला गया। बता दे कि मीडिया ने दोनो पक्षों से बात करने की कोशिश की। दोनो ही पक्षों को कई सवाल किए गए। जिसका एक भी जवाब नहीं दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here