प्रशांत भूषण ने सुप्रीम कोर्ट में माना ‘गलती हो गई’

0
563

ऐडवोकेट प्रशांत भूषण ने अवमामनना मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट मे अपनी गलती गान ली है. प्रशांत भूषण ने माना की एम. नागेश्वर राव की CBI के अंतरिम निदेशक के रूप में नियुक्कि के बारे में उच्चाधिकार चयन समिति की बैठक की कार्यवाही के विवरण को गढ़ा हुआ बातने संबंधी ट्विट करके गलती की थी. इस पर जस्टिस अरुण मिश्रा और जस्टिस नवीन सिन्हा की पीठ ने अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल से कहा कि वो प्रशांत भूषण के इस बयान को देखते हुए उनके खिलाफ दायर अपनी अवमानना याचिका वापस लेना चाहेंगे.

साथ ही सुप्रीम कोर्ट में प्रशांत भूषण की तरफ से एक अर्जी दायर की गई, जिसमें जस्टिस अरुण मिक्षा से अनुरोधा किया गया कि वो वेणुगोपाल की अवमानना याचिका पर सुनवाई से खुद को अलग करें. जिसके बाद जस्टिस मिक्षा को अवमानना याचिका की सुवाई से अलग होने का अनुरोध करने के लिए भूषण ने पीठ से बिना शर्त क्षमा याचना करने से भी इंकार कर दिया. वहीं पीठ से केके वेणुगोपाल ने ने कहा वो अपने पहले के बयान पर कायम हैं कि वो इस मामले में प्रशांत भूषण के लिए कोई सजा नहीं चाहते हैं. वहीं अब इस मामले की अगली सुवाई 3 अप्रैल को होगी.

गौरतलब, है कि प्रशांत भूषण ने अपने एक ट्वीट में कहा था कि सरकार ने शायद गढ़ा हुआ कार्यवाही विवरण कोर्ट में पेश किया है. ये भी पढ़ें: पीएम मोदी की रैली से ठीक पहले, उन्नाव में दबोचे गए दो संदिग्ध..हुए ये खुलासे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here