इस हालात में धरे गए थे श्रीसंत, स्पॉट फिक्सिंग रात की जाने पूरी कहानी

0
283
shree

भारतीय तेज गेंदबाज एस श्रीसंत लंबे समय स्पॉट फिक्सिंग के आरोपो को झेल रहे है। लेकिन शुक्रवार का दिन श्रीसंत के लिए काफी खुशियों भरा था। दरअसल शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने श्रीसंत पर लगे आजीवन प्रतिबंध को हटा दिया है। जिससे अब श्रीसंत क्रिकेट में फिर से वापसी कर सकते है।

सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस अशोक भूषण और केएस जोसेफ की बैंच ने सुनवाई के दौरान कहा कि बीसीसीआई की अनुशासन  समिति तीन महीने में श्रीसंत को दी गई सजा पर दोबारा विचार करे।

आपको बात दे कि मामला 2013 का है। इस दौरान श्रीसंत आईपीएल-6 में राजस्थाल रॉयल्स का हिस्सा थे। यहा पर श्रीसंत के साथ दो और खिलाड़ी थे।  अंकित चव्हाण और अजित चंडिला। जिन्हें पुलिस ने देर रात मुंबई के ट्राइडेंट होटल से गिरफ्तार किया था और साथ ही पुलिस ने 7 सट्टेबाजों को भी गिरफ्तार किया था।

इस मौके पर पुलिस ने बताया था कि खिलाड़ी और सट्टेबाजों के बीच डील चल रही थी। जिसमे खिलाड़ियों और बुकी के बीच 1 ओवर में कम से कम 14 रन देने की बात चल रही थी। यहा पर खिलाड़ियों को एक कोड भी दिया गया था। जिसके जरीए क्रिकेटर मैदान में जाकर बुकी को संकेत देते थे। यहां पर श्रीसंत को तौलिये से संकेत देने की बात कही गई थी।

हालांकि पुलिस की जांच पूरी होने के बाद बीसीसीआई ने तीनो खिलाड़ियों को आईपीएल से बर्खास्त कर दिया गया था। जिसके बाद गिरफ्तारी के साथ खिलाड़ियो पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here