HomeBreaking Newsतो इसलिए भगवान कृष्ण बने थें किन्नर, वजह जान आप हो जाएंगे...

तो इसलिए भगवान कृष्ण बने थें किन्नर, वजह जान आप हो जाएंगे हैरान

- Advertisement -

भगवान श्री कृष्ण..इनसे जुड़ी ऐसी दो गाथाएं हैं, जो काफी दिलचस्प, नायाब व रोमांचक हैं। जिन्हें सुनकर आप एक पल के लिए हो जाएंगे हैरान, लेकिन हां.. यकीन मानइए काफी दिलचस्प हैं ये गाथाएं, तो चलिए जानते हैं भगवान श्री कृष्ण से जुड़ी दो गाथाओं के बारे में। क्या आपको मालूम है कि भगवान कृष्ण जब मानव रूप धारण कर इस धरा पर आए थे, तब उन्होंने दो बार किन्नर रूप धारण किया था। वहीं,अगर आप इनके किन्नर रूप धारण करने के पीछे की वजह जानेंगे तो वो आपको हैरान कर देगी, तो चलिए जानते हैं उन गाथाओं के बारे में। ये भी पढ़े :पाकिस्तान का इस परिवार ने खुद को राम-कृष्ण का वंशज कहा, ये जानकर दुनिया भी हैरान

ऐसा कहा जाता है कि भगवान कृष्ण दो बार किन्नर बने थें। एक बार तो अपनी प्रेमिका यानी की प्रेम के लिए तो दूसरी बार धर्म के लिए, तो चलिए इन दो मामलों को विस्तार से जानने की कोशिश करते हैं।

जब प्यार के लिए बने किन्नर
एक ऐसी कथा, जो ये बताती है कि भगवान कृष्ण अपने प्यार को खुश करने के लिए किन्नर बने थें। दरअसल, एक बार राधा मान कर बैठी थीं। उन्हें एकाएक बहुत मान आ गया था। अपने सखियों के समझाने पर भी नहीं समझ रही थीं। आखिरी में जब इनसे सब थक गए तो अन्त में भगवान कृष्ण ने किन्नर का रूप धारण किया, और अपना नाम रखा श्यामरी। तब भगवान किन्नर रूप धारण कर पहुंच गए राधा के चौखट पर और अपनी मधुर ध्वनि से बजाने लग गए बासूंरी। इस पर मानो राधा इतनी प्रसन्न हो गई कि इन बांसूरी के ध्वानि को सुनने के लिए अपने आंगन से दौड़े चली आई। इस पर राधा ने श्यामरी को अपने गले का हार भेंट करना चाहा, तो इस पर श्यामरी यानी की भगवान कृष्ण ने कहा कि मुझे आपका ये हार नहीं चाहिए। अगर आप मुझे कुछ देना चाहतीं हैं तो आप अपना मानरूप सम्मान दे दीजिए। इस पर राधा समझ गईं की ये श्यामरी नहीं बल्कि मेरे श्याम है। इस तरह से दोनों का मिलन हो गया।

जब धर्म के लिए बने किन्नर
वहीं, इन सबसे इतर एक वक्त ऐसा भी आया था, जब भगवान कृष्ण धर्म के लिए किन्नर बने थें। दरअसल, महाभारत के युद्ध में रणचंड़ी को प्रसन्न करना था। इसके लिए राजकुमार की बली दी जानी थी। ऐसे में अर्जून के पुत्र इरावन ने कहा कि वे अपना बलिदान देने के लिए तैयार है, लेकिन उसकी एक शर्त है  कि वो एक रात के लिए किसी कन्या से विवाह करना चाहता है। लेकिन ऐसे में समस्या ये थी कि आखिर एक रात के लिए इनसे विवाह कौन सी कन्या करतीं, तब श्री कृष्ण ने कहा कि मैं एक दिन के लिए किन्नर बनकर इरावन से शादी कर लूंगा। ये भी पढ़े :पाकिस्तान का इस परिवार ने खुद को राम-कृष्ण का वंशज कहा, ये जानकर दुनिया भी हैरान

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here