Categories
Breaking News

यूपी में जूता-कांड के बाद डरे प्रभारी मंत्री, सिद्धार्थनाथ सिंह मीटिंग में नहीं जाएंगे

उत्तर प्रदेश के संतकबीर नगर में बीजेपी सांसद और विधायक के बीच हुए जूते कांड से पार्टी की काफी किरकिरी हुई है। जिसके बाद अब पार्टी के नेता मुंह छुपाने के लिए मजबूर होते हुए नजर आ रहे है। तभी तो अब जिलें प्रभारी मंत्री भी प्रदेश भी योजना समिति की बैठक में जाने से कतरा रहे है। दरअसल योगी सरकार में स्वाथ्य मंत्री और बस्ती जिले के प्रभारी मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने शुक्रवार को होने वाली जिला योजना समिति की बैठक में जाने से मना कर दिया है।

आपको बता दे कि चुनावी दौर मे इन दिनों उत्तर प्रदेश में योजना समिति की बैठकों का दौर चल रहा है। जिमसें कई विकास कार्यों पर ध्यान दिया जा रहा है और आगे काम काम कैसे करना है उन पर निर्णय भी लिए जा रहे है। वही अब शुक्रवार को जिला योजना समिति की बैठक बस्ती में होने वाली है। जिसमे अब जिला प्रभारी मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने हिस्सा लेने से मना कर दिया। जिसके बाद अब कहा जा रहा है कि सांसद और विधायक के बीच हुए बवाल के बाद मंत्री ने बैठक में शामिल होने से मना किया है।

गौरतलब है कि संतकबीर नगर में बुधवार को जिला योजना समिति की बैठक में बीजेपी सांसद शरद त्रिपाठी ने अपने ही पार्टी के विधायक राकेश सिंह बघेल को सरेआम जूतों से मारा। वही इस दौरान बैठक में प्रभारी मंत्री आशुतोष टंडन मौजूद थे। लेकिन फिर भी दोनो नेताओं के बीच मारपीट का दौर चलता रहा। सांसद और विधायक के बीच विवाद महज शिलापट्टी पर नाम न होने के वजह से हुआ था। जिसमें सांसद का नाम न होने पर सांस विधायक पर भड़क गए। ये भी पढ़ें:-जूते कांड पर घिरी बीजेपी, सपा- कांग्रेस ने साधा निशाना

bjp fight

Leave a Reply

Your email address will not be published.