चुनाव के वक्त आजम खान को याद आई जवानों की शहादत, पाकिस्तान को लेकर बोले बड़ी बात

0
300

राजनीति में ये तो आम बात है कि चुनावों के आते ही नेताओं को जनता की याद आने लगती है. और अब तो देश में लोकसभा चुनावों का दौर चल रहा है. तभी तो सपा महासचिव व पूर्व मंत्र आजम खान को पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों की याद आ गई. और वो बोले कि अगर मैं देश का प्रधानमंत्री होता तो 40 जवानों की मौत के बाद पाक पर हमला करने में 40 सेकंड न लगाता. फिर चाहे अंजाम कुछ भी होता.

ये बात आजम खान ने सपा दफ्तर में मीडिया से बातचीत के दौरान कही. वो बोले किसी भी मौत हो जाए हिंदुओं में अंतिम संस्कार और मुसलमानों में नमाजे जनाजा जरूर होती है. क्योंकि इसके बिना मोक्ष नहीं मिलता. लेकिन लाश न मिले तो मुसलमानों में गयाबाने नमाजे जमाना अदा की जाती है. वो बोले एयस्ट्राइक में तो पाक के 450 से अधिक लोग मारे गए हैं. तब भी पड़ोसी देश ने उनकी मौत पर नमाजे जनाजा अदा नहीं की.

बीजेपी पर आजम खान ने साधा निशाना
आजम खान ने बातों ही बातों में बीजेपी की सरकार पर भी हमला बोला. वो बोले इस सरकार के खोखले वादों से अब देश की जनता का मन भर चुका है. और अगर कोई मोदी के हर साल दो करोड़ रोजगार देने के वादे पर यकीन कर सकता है. तो पीएम को कांग्रेस पार्टी के 72 हजार रुपये के वादे पर भी भरोसा करना चाहिए. ये भी पढ़ेंः- उत्तराखंड में पीएम मोदी की गर्जना, कहा ‘चार धामों के साथ यहां सैनिक धाम भी है’

रामपुर प्रशासन पर लगाया आरोप
आजम खान ने रामपुर प्रशासन पर उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए कहा कि मेरे सीबीएससी बोर्ड के 4 स्कूल हैं. इन स्कूलों में गरीब बच्चों को कम फीस में शिक्षा दी जाती है. पर डीएम के आदेश पर एडीएम और सिटी मजिस्ट्रेट ने दो कमरे खाली करवाने के लिए बच्चों के कान पकड़े और सिर पर कुर्सियां रखवाईं. वो बोले प्रशासन ने पानी तक के कनेक्शन काट दिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here