विंग कमांडर अभिनंदन के लिए रूस के एक्सपर्ट ने कही गौरवशाली बात, पूरी दुनिया में बजा डंका

0
501
ABHINADAN PLAN

बीते बुधवार विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान ने पाकिस्तान एफ-16 लड़ाकू विमान को भारतीय सीमा खदेड़ा था हैरानी की बात तो इस दौरान ये रही कि जांबाज पायलट ने ये कारनामा भारत के मिग-21 लड़ाकू विमान की मदद से किया। जो एफ-16 के सामने कमजोर विमान साबित होता है। वही पाकिस्तान को करारी हार दिखाने के बाद जांबाज पायलट की चर्चा अब विश्व स्तर पर हो रही है।

दरअसल सोमवार को एयरचीफ मार्शल बीएस धनोवा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान मार्शल से पूछा गया कि क्या वजह थी कि अभिनंदन को एफ-16 का सामने करने के लिए मिग-21 लेकर उतरना पड़ा। इस सवाल के जवाब में बीएस धनोवा ने कहा कि अभिनंदन को उस समय जो भी फाइटर जेट मिला, वो उसे लेकर एफ-16 का सामना करने चले गए। वही अब दुनियाभर में विंग कमांडर अभिनंदन की तारीफ हो रही है।

आपको बता दें कि भारत ने मिग-21 लड़ाकू विमान अमेरिका से खरीदा था जो काफी पुरानी तकनीक से बना है। मिग-21 का इस्तेमाल वायुसेना ने 1970 के दशक में शुरू किया था। जिसके चलते इस विषय रूस टुडे ने एक अहम जानकारी जारी की है। रिपोर्ट में कहा है कि ये कहना सही नहीं होगा कि मिग 21 ने एफ 16 को हराया है। बल्कि ये कहना सही होगा कि मिग 21 से एफ 16 के हारने से ज्यादा महत्वपूण मिग 21 का पायलट है।

रूस एयरफोर्स एक्सपर्ट्स का कहना है कि ये दोनो लड़ाकू विमान एक-दूसरे से काफी अलग है। बल्कि दोनो में जनरेशन गैप भी काफी ज्यादा है। लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि मिग-21 और एफ-16 का सामना करने के लिए लायक नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here