Thursday, February 2, 2023

लोकसभा चुनाव: प्रतिष्ठा का सवाल है CM योगी की सीट, बाबा गोरक्षनाथ की शरण में पहुंचे प्रतिद्वंदी पिता के बेटे

Must read

- Advertisement -

‘राजनीति’ ये शब्द जरूर चार अक्षर का है, लेकिन इसका मतलब काफी बड़ा है. राजनीति करनी हर किसी के बस की बात नहीं, लेकिन जो करता है उसे कुछ न कुछ दाव पर जरूर लगाना पड़ता है. ऐसा ही कुछ इस लोकसभा चुनाव में भी देखने को मिल रहा है. एस ऐसी सीट जो आज प्रतिष्ठा का विषय बना हुआ है. हर बात कर रहे हैं गोरखपुर सीट की. इस सीट को वापस पाना सीएम योगी आदित्यनाथ के लिए साख का प्रश्न बन गया है. कभी इस सीट पर सपा प्रत्याशी रहे पूर्व मंत्री स्वर्गीय जमुना निषाद ने 1999 में सीएम योगी को कांटे की टक्कर दी थी.

- Advertisement -

समाजवादी पार्टी लोहिया वाहिनी के राष्ट्रीय सचिव रहे अमरेन्द्र निषाद ने अभी चार दिन पहले सपा में उपेक्षा और कुछ नए ऐलान की बात पत्रकारों से की थी. वहीं पांच दिन पहले लखनऊ में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेनद्र नाथ पांडेय के हाथों आशीर्वाद लेकर उन्होंने पिपराइच की पूर्व विधायक मां राजमती निषाद के साथ बीजेपी का दामन थाम लिया. राजमती बीजेपी में शामिल होने के बाद सीधे गोरखनाथ मंदिर पहुंचे. जहां उन्होंने मत्था टेका. सोमवार को यहां मंदिर आए और बाबा गुरु गोरक्षनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना की. साथ ही वो ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ और ब्रह्मलीन महंत दिग्विजयनाथ की समाधित स्थल पर भी गए. जहां उन्होंने मत्था टेका और आशीर्वाद लिया.

निषाद इस दौरान काफी उत्साहित और खुश दिखे. उन्होंने सपा छोड़ने का कारण बताते हुए कहा कि मुलायम सिंह यादव ने जिस उद्देश्य के लिए सपा पार्टी बनाई थी. वो सपा अपने उद्देश्य से भटक गई है. ये भी पढ़ें: मसूद अजहर को जी कहने पर फंसे राहुल गांधी, चुनाव से पहले बीजेपी को मिला बड़ा हथियार

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article