घर से दूर हो जाएगी गरीबी, आपके जूतों में छिपा है इसका राज…जानिए

0
1612
shani dev

एक व्यक्ति के जीवन की कामयाबी का संबंध ग्रहों नक्षत्रों की चाल पर निर्भर करती है। ज्योतिष के अनुसार जीवन में अच्छा और बुरा समय का संबध व्यक्ति के जूतों पर निर्भर है। आज हम आपको बताएंगे कि गरीबी दूर कैसे करें किसी को भी बिना बताए करे बस ये काम।

जूते-चप्पल से जुड़ी अहम बातें

अगर आपकी कुंडली में शनि दोष है या फिर शनि की ढैय्या अथवा साढ़ेसाती चल रही है तो आप शनिवार के दिन बिना किसी को बताए अपना काले रंग का चमड़े का जूता या चप्पल मंदिर के प्रवेश द्वार पर उतार कर चले जाएं। फिर देखिए कैसे आपके सितारे बदल जाएंगे।

अगर मंदिर के बाहर से अपके जूते चोरी होते है तो बिलकुल निराश न हो। इस पर ज्योतिष कहते है कि ये घटना आपके जीवन में शुभ संकेत लेकर आती है।

किसी भी व्यक्ति को काम पर या लंबी यात्रा या कोई शुभ कार्य के लिए आप जा रहे हो तो इस बात का खास ध्यान रखे कि आपके जूतें फटे न हो। फटे जूतें आपके कार्य की सफलता में बाधक बनते हैं।

घर के सामने किसी भी घर के सदस्य को देहलीज पर जूते नहीं उतारे चाहिए। इस बात का ध्यान रखे कि आप के यहां आने वाले भी अतिथिगण ऐसा न करे।

ज्योतिष के अनुसार जूते चप्पल कभी भूलकर भी उत्तर-पर्वी दिशा में न रखें। इस हमेशा अच्छे तारिके से पश्चिम दिशा की ओर रखें।

इस बात का घर में खास ख्याल रखना चाहिए कि बाहर प्रयोग किए जाने वाले जूते चप्पल घर में पहन कर न घूमे। ऐसा करने से बाहर की मिट्टी के साथ नकारात्मक उर्जा का प्रवेश हो सकता है।

अगर कोई जूते या चप्पल पहन कर घर में प्रवेश करता है तो उसके साथ राहू तथा केतु ग्रह भी प्रवेश कर जाते है।

पुराने जूते चप्पल रखने से घर में नकारात्मक ऊर्जा का वास रहता है जिसके कारण समस्याएं आपके घर में बस जाती है। इसलिए जिन जूते चप्पल का आप प्रयोग न कर रहे हों, उन्हें घर में ना रखें बल्कि किसी गरीब को दे दें।

घर में जूते चप्पल इधर-उधर बिखरा न छोड़े इससे घर में हर समय तनाव की स्थिति बनी रहती है इसले जूते चप्पल को सही तरीके से रखे।

ज्योतिष के अनुसार दफ्तर में भूरे रंग के जूते पहनकर नहीं जाने चाहिए। इसकी जगह आप डार्क ब्राउन रंग के जूते चप्पल पहन सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here