लॉकडाउन 5.0 से पहले बढ़िया खबर, कोरोना को खत्म करने के लिए कंपनी के CEO के पास अहम सबूत

0
867
corona-vaccine

कोरोना के बढ़ते संक्रमण और लॉकडाउन 5.0 (Lockdown 5.0) के ऐलान से पहले एक बड़ी राहतभरी खबर निकलकर सामने आई है. या कहें कि, जिस गुडन्यूज का इंतजार पूरे विश्व को था उसका ऐलान हो चुका है. जी हां, अमेरिका की बड़ी दवा कंपनी फाइजर (Pfizer) के CEO अल्बर्ट बॉरला (Albert Bourla) ने दावा किया है कि, इस साल के अक्टूबर तक हमें कोरोना वैक्सीन मिल सकती है और हमारे पास इसके लिए सबूत भी हैं.

मिलेगी कोरोना वैक्सीन
दरअसल, कंपनी के CEO अल्बर्ट बॉरला ने हाल ही में टाइम्स ऑफ इजरायल के साथ बातचीत की. जिसमें उन्होंने कहा कि, अगर सब चीजें ठीक से चलती हैं तो कोरोना जैसी खतरनाक महामारी (Coronavirus Pandemic) के इलाज की दवा अक्टूबर 2020 तक बन सकती है.

इस कंपनी ने भी जताया भरोसा
बता दें, कोरोना की दवा बनाने के लिए फाइजर जर्मनी की कंपनी बायोनटेक (Biotech) के साथ मिलकर अमेरिका के साथ-साथ यूरोप में भी दवा बनाने के काम में जुटी हुई है. इसके अलावा एस्ट्रेजेनेका (AstraZeneca) कंपनी ने पूरे भरोसे के साथ कहा है कि साल 2020 के आखिर तक कोरोना के इलाज की दवा बाजार में आ जाएगी. ये कंपनी यूनिवर्सिटी ऑफ ऑक्सफोर्ड के साथ मिलकर कोरोना वैक्सीन को जल्द से जल्द बनाने में जुटी हुई है.

तेजी से निकल रहा है समय
कंपनी के बॉस पास्कल सॉरिएट ने दवा के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि, “लोग चाहते हैं कि उनके पास दवाई हो जिससे कोरोना का इलाज हो सके.corona vaccine तो साल 2020 के अंत तक लोगों को दवा मिल जाएगी. पर कोरोना के इलाज के लिए दवा खोजने में काफी वक्त खराब हो रहा है और तेजी से निकल रहा है.”

कोरोना का प्रकोप जारी
बता दें, कंपनियां भले ही भरोसा जता रही हैं लेकिन तब तक कोरोना वायरस पूरे विश्व को अपनी चपेट में ले सकता है. क्योंकि, इस समय कोरोना भारत में काफी तेजी से फैल रहा है. अब तक पूरे विश्व में इस बीमारी से 3.58 लाख से ज्यादा लोग जान गंवा चुके हैं वहीं 50 लाख से ज्यादा इस बीमारी से लड़ रहे हैं.

ये भी पढ़ेंः- देश के इन 13 शहरों में होगी कड़ी सख्ती, लॉकडाउन 5.0 में नहीं मिलेगी रियायतें