मैच फिक्सिंग को लेकर महेंद्र सिंह धोनी बोले ऐसी बात, मोहम्मद आमेर भी कुछ सीखें

0
334

महेंद्र सिंह धोनी की अगुवाई में चेन्नई सुपर किंग्स अब तक 3 बार IPL का खिताब अपने नाम कर चुकी है, लेकिन एक दौर ऐसा भी था जब चेन्नई की टीम को मैच फिक्सिंग के आरोपों के चलते 2 साल तक मैदान से बाहर रहना पड़ा. हालांकि, जब टीम ने 2 साल बाद IPL में वापसी की तो धोनी के जांबाजों ने तीसरा IPL खिताब अपने नाम किया. वहीं चेन्नई सुपर किंग्स के निलंबन से लेकर IPL में वापसी करने तक को लेकर एक डॉक्यूमेंट्री ‘रॉर ऑफ द लॉयन’ बन गई है, जो कि 20 मार्च को हॉटस्टार पर रिलीज होगी.

क्या कहा माही ने
इस डॉक्यूमेंट्री के 45 सेकंड के ट्रेलर में चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कहा ‘टीम मैच फिक्सिंग में शामिल थी, मुझ पर भी आरोप लगे थे. ये हम सब के लिए कठिदौर था. वापसी करना भावुक क्षण था और मैंने हमेशा ही कहा है जिस चीज से आपकी मौत नहीं होती, वो आपको मजबूत बनाती है.’ साथ ही धोनी ने कहा उनके लिए सबसे बड़ा अपराध हत्या करना नहीं ,बल्कि मैच फिक्सिंग करना होगा.

मोहम्मद आमिर को लेनी चाहिए सीख!
साल 2010 में पाकिस्तान और इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स के मैदान पर मैच खेला गया. इस मैच में पाक के तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर ने जानबूझकर नो-बॉल फैंकी. इसके बाद उन्हें मैच फिक्सिंग के आरोप में जेल जाना पड़ा था. हालांकि, जेल से बाहर आने के बाद उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान के पूर्व कप्तान सलमान बट और मैच फिक्सिंह एजेंट मजहर माजिद ने उन्हें स्पॉट फिक्सिंग के इस मामले में फंसाया था. वहीं जिस तरह से धोनी का बयान सामने आया है. ऐसे में इन पाकिस्तानी खिलाड़ियों को माही से बहुत कुछ सीखने की जरूरत है. ये भी पढ़ें: विशेष विमान छोड़कर पैदल की चल पड़ीं रक्षा मंत्री, गेट तक छोड़ने भी नहीं आए अधिकारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here