Categories
Breaking News

मसूद के साथी चीन पर लोगों का भड़का गुस्सा, Boycott China की उठी मांग

UNSC  में एक बार फिर चीन ने आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का सरगना मसूद अजहर की मदद करके अपना दोगला चेहरा दिखा दिया है। सयुंक्त राष्ट्र परिषद की कार्यवाई में चीन में चौथी बार आतंकी मसूद अजहर का साथ दिया। जिसके बाद अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन की तरफ से मसूद के खिलाफ लगाया गया प्रस्ताव रद्द हो गया। जिसके बाद अब भारत में चीन को आक्रोश का सामना करना पड़ रह है।

china 1

चीन को खिलाफ सोशल मीडिया पर लोगों ने #BoycottChina और #Boycottchineseproducts नाम   का अभियान छेड़ दिया है। जिसमें लोगों से चीनी समान को न खरीदने की बात कही है।

china 2

सोशल मीडिया पर लोगो का कहना है कि चीन से भारत में जितना भी सामान आ रहा है उसे खरीदना बंद कर देना चाहिए, क्योंकि चीन आतंकियों को संरक्षण दे रहा है।

यहां तक कि लोग चीन के Oppo, VIVO, Huawei, Redmi, one plus, Gionee कंपनी के मोबाइल फोन तक बैन करने की मांग कर रहे हैं।

china 3

यहीं नहीं, लोगों ने ट्विटर पर चीन के ऐप की लिस्ट डाली है जिन्हें Uninstall करने की मांग उठ रही है। इस लिस्ट में Tiktok, like, helo, Shareit, UC Browser, PUBG Mobile game आदि को बैन करने की मांग उठ रही है। लोगों ने तो IPL तक को ना देखने की मांग की है क्योंकि IPL में चीन की कई कंपनियां प्रायोजक हैं। लोगों का कहना है कि BCCI को भी इस दिशा में कदम उठाना चाहिए।

china 4

उधर, चीन के दोगले रवैये के बाद कांग्रेस ने इसे मोदी सरकार की कूटनीतिक विफलता करार दी है। कांग्रेस का कहना है कि मोदी सरकार न तो पाकिस्तान में आतंकियों पर कार्रवाई कर पाई है और ना ही मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी करार दिया है।

china 7

सूत्रों का कहना है कि चीन इस बात पर अड़ा है कि आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद और मसूद अजहर का आपस में कोई रिश्ता नहीं है और मसूद के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिले हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *