सपा-बसपा गठबंधन में कांग्रेस को जगह, तैयार है ये नया फॉर्मूला

0
337

लोकसभा चुनाव की तैयारियां जोरों पर हैं. माना जाता है कि इस चुनाव में दिल्ली की जीत का रास्ता उत्तर प्रदेश से होकर निकलता है. जिसके चलते सभी राजनीतिक पार्टियों की नजरें यूपी पर हैं. कांग्रेस भी यूपी की राजनीति पर पैनी नजर बनाई हुई है. जहां पहले सपा-बसपा गठबंधन हो चुका है, तो वहीं अब इस गठबंधन में कांग्रेस की एंट्री हो सकती है. इसके लिए सपा-बसपा और कांग्रेस की बीच में बातचीत जारी है.

कांग्रेस हर हाल में चाहती है गठबंधन
भले ही कांग्रेस और समाजवादी पार्टी ने अपने उम्मीदवारों की शुरुआती लिस्ट जारी कर दी है, लेकिन दोनों पार्टियों के अंदरखाने गठबंधनको लेकर चर्चाएं तेज हैं. कांग्रेस हर हाल में सपा-बसपा गठबंधन का हिस्सा बनना चाहती है, जिसके लिए प्रयास जारी है. कांग्रेस के लिए इलाहाबाद, धौरहरा, कानपुर, बरेली, लखनऊ वाराणसी, बरबंकी और प्रतापगढ़ सीटें मुफीद हैं. माना जा रहा है कि कांग्रेस महाराष्ट्र में अपने गठबंधन की सीटें सपा को और छत्तीसगढ़, राजस्थान समेत मध्य प्रदेश की सीटें बसपा को देने को तैयार है.

तैयार है ये फॉर्मूला
गठबंधन को लेकर जो फॉर्मूला तैयार हुआ है उसके अनुसार, कांग्रेस दूसरे राज्यों में सपा-बसपा को जितनी सीटें देगी, उतनी ही सीटें यूपी में सपा-बसपा कांग्रेस के लिए छोड़ सकते हैं. दरअसल, इनके पास ऐसी लगभग कई सीटें हैं, जहां पर कांग्रेस पार्टी मजूबत है. वहीं अगर त्रिकोणीय (सपा-बसपा, कांग्रेस) टक्कर होती है तो सीटें जीतने में काफी दिक्कत होने वाली है. ऐसे में कोशिश इस बात की हो रही है कि कांग्रेस इस गठबंधन का हिस्सा बने.

मान जाएंगी मायावती
जो खबरें निकल कर सामने आ रही है उसके मुताबिक बसपा सुप्रीमो मायावती कांग्रेस को गठबंधन का हिस्सा बनाने के लिए तैयार नहीं दिख रही है. वहीं कांग्रेस के अंदरखाने अभी काफी कुछ चल रहा है. ऐसे में बसपा के सूत्र बताते हैं कि हालात बदल रहे हैं और अगर कांग्रेस पार्टी मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में बसपा को सीटें देती है तो मायावती गठबंधन के लिए तैयार हो सकती हैं. ये भी पढ़ें: हो सकते हैं इतने चरणों में लोकसभा चुनाव, तारीखों का ऐलान आज संभव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here