धीरूभाई अंबानी से सीखिए ये 5 बातें, इस वजह से मुकेश अंबानी को मिली सफलता

0
567
dheerubhai_mukesh_ambani

ये बात तो हम सभी बहुत अच्छी तरह जानते हैं कि सफलता कभी आसानी से नहीं मिलती. और जब चाह हो सबसे अमीर बनने की. तो उसके लिए मेहनत भी कड़ी करनी पड़ती है. देश और दुनिया में अपने अमीर होने की पहचान बनाने वाले धीरूभाई अंबानी भी ऐसे ही देश के सबसे अमीर व्यक्ति नहीं बने. इसके लिए उन्होंने दिन-रात खूब मेहनत की. तब जाकर उन्हें इतना नाम मिला. और अपने पिता के ही कदमों पर चलकर मुकेश अंबानी अपने देश के सबसे अमीर शख्स बने हैं. तो चलिए आज आपको भी बताते हैं वो सारे मंत्र जो मुकेश अंबानी ने अपने पिता से सीखे.

पहला मंत्र- कारोबारी को पता होना चाहिए उसे क्या करना है
अगर आप कोई कारोबार शुरू करने का सोच रहे हैं. तो उससे पहले आपको ये तय करना होगा कि आपका उद्देश्य क्या है. तभी आप अपनी मंजिल तक पहुंच पाएगें. क्योंकि बिना लक्ष्य निर्धारित किए आप कभी अपनी मंजिल तक नहीं पहुंच सकते.

दूसरा मंत्र- सकारात्मक सोच रखें
आप कितनी भी मेहनत क्यों ना करें, लेकिन अगर आपकी सोच सकारात्मक नहीं होगी. तो आप अपने उद्देश्य को पूरा नहीं कर सकते. क्योंकि अक्सर जब हम कोई नया काम शुरू करते हैं. और उसमें सफल नहीं होते तो हमारी सोच नकारात्मक हो जाती है. जो हमें मंजिल तक नहीं ले जा पाती.

ये भी पढ़ेंः- नौकरी –व्यवसाय में जल्दी कामयाबी के लिए, आजमाएं ये टिप्स.. जरूर मिलेगी सफलता

तीसरा मंत्र- कभी हार मत मानो
अगर आप कुछ करना चाहता हैं. तो आपको सफलता के साथ-साथ बहुत सारी असफलताओं का भी सामना करना पड़ेगा. लेकिन उन असफलताओं से आपको बिना डरे आगे बढ़ना होगा. देश के सबसे अमीर व्यक्ति मुकेश अंबानी ने भी कई बार मुश्किलों का सामना किया पर उनके पिता ने उन्हें एक बात हमेशा कही कि मुश्किलों से डरो मत बल्कि आगे बढ़ो.

चौथा मंत्र- एक अच्छी टीम का करें चुनाव
अकेले आप अपनी मंजिल तक नहीं पहुंच सकते. इसके लिए आपको एक अच्छी टीम का चयन करना होगा. जो पूरी लगन और मेहनत के साथ आपका साथ दे.

पांचवा मंत्र- दोस्ती नहीं पार्टनरशिप
अगर आपको याद होगा तो रिलायंस की लॉन्चिंग के बाद मुकेश ने एक लाइव इंटरव्यू दिया था. और उसमें उन्होंने बताया था कि उनके पिता उन्हें बेटे की तरह नहीं बल्कि बिजनेस पार्टनर की तरह ट्रीट करते थे. उनके पिता उन्हें सिखाते थे कि किसी भी बिजनेस में दोस्ती या कोई और रिश्ता नहीं बल्कि पार्टनरशिप चलती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here