Categories
Breaking News

‘कश्मीर की माताएं अपने आतंकी बेटों का सरेंडर करवाएं, जो बंदूक उठाएगा वो बेमौत मरेगा’

पुलवामा में सीआरपीएफ की टुकड़ी पर हुए आतंकी हमले के बाद मंगलवार को सेना, सीआरपीएफ और जम्मू-कश्मीर पुलिस की संयुक्त प्रेस वार्ता हुई. इसमें सेना अधिकारियों ने जम्मू-कश्मीर के भटके हुए उन युवाओं को सरेंडर कर मुख्य धारा में लौटने की अपील की. उन्होंने कहा कि जिन माताओं के बच्चे भटक गए हैं उनकी ये जिम्मेदारी है कि उन्हें समझाकर आत्मसमर्पण कराएं, जिसके लिए सरकार की पॉलिसी भी है.

100 घंटे के अंदर एक्शन
वहीं इस प्रेस वार्ता में सेना के अधिकारी चिनार कॉप्स के कॉप्स कमांडर कंवलजीत सिंह ढिल्लन ने कहा कि उन्होंने आतंकी हमले के 100 घंटे के अंदर ही इसके दोषियों को उनके अंजाम तक पहुंचा दिया. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI की मदद से जैश-ए-मोहम्मद ने पुलवामा में आतंकी हमला किया. उन्होंने कहा कि जैश-ए-मोहम्मद पाकिस्तान का ही एक बच्चा है, जैश जो भी करता है वो पाकिस्तानी सेना के कहने पर ही करता है. केजीएस ढिल्लन ने खुली चेतावनी देते हुए कहा कि जो भी व्यक्ति घाटी में बंदूक उठाएगा वो मारा जाएगा.

साथ ही केजीएस ढिल्लन ने कहा कि जो भी आतंकी जम्मू-कश्मीर की जमीन पर घुसेगा वो मारा जाएगा. उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी सेना और ISI जैश-ए-मोहम्मद को कंट्रोल कर रही है. ये भी पढ़ें: एयर शो के दौरान बेंगलुरु में बड़ा हादसा, दो एयरक्राफ्ट आपस में टकराए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *