इस होली रहें सावधान, कहीं नकली मावा बिगाड़ न दे आपकी सेहत

0
480
mava

होली का त्योहार नजदीक है. ऐसे में बाजारों की रौनक देखते ही बन रही है. हर तरफ रंग-बिरंगे रंग और कलरफुल पिचकारी से सजे बाजार वाकई देखने में काफी अच्छे लगते हैं. पर रंग गुलाल के साथ व्यंजनों का पर्व होली मिलावट से बदरंग हो सकता है. ऐसे में बड़ी खबर सामने आई है यूपी के हरदोई से. जहां मिलावटी व सिंथेटिक खोये सरसों के तेल का व्यापार होली नजदीक आते ही काफी जोरों पर है. और मावे की सफेदी और सरसों के तेल का पीलापन आपकी खरीददारी करने की चूक आपकी सेहत पर भारी पड़ सकता है. इसलिए होली की खरीददारी पर असली और नकली की पहचना होना काफी जरूरी है.

होली को लेकर मिलावट खोर हावी हो जाते हैं. कमाई का लालच मिलावटी खाद्य पदार्थो की बिक्री को तेज कर देता है. सिंथेटिक दूध व मिलावटी खोये व सरसों रिफाइन्ड तेल की बनी मिठाइयां किडनी से लेकर लीवर तक खराब कर सकता है. खोया मंडी में आसपास के गांवों के अलावा बाहर से भी मिलावटी माल उतारा जा रहा है. मिलावटी खोये की बनी गुंजिया व मिठाइयां जहां सांस नली में दिक्कत खड़ी कर सकती है. वहीं पेट के अन्य जरूरी अंगों को भी बेहद नुकसान पहुंचा सकती है.

खोये के मिलावट में आम तौर पर मैदा, अरारोट, रिफाइंड, आलू, सस्ता मिल्क पाउडर का इस्तेमाल किया जा रहा है. सिंथेटिक दूध से भी खोये को तैयार कर बेचा जा रहा है.hardoi इतना ही नहीं खोये का रंग बदलने के लिए केमिकलों का भी इस्तेमाल होता है. जो सेहत के लिए नुकसानदायक है. खरीदारी में असली खोये की पहले पहचान करें ताकि मिलावट का असर स्वास्थ्य पर न पड़ सके. ये भी पढ़ेंः- होली पर किए-कराए से ऐसे पाएं मुक्ति, घर में खुशियां भर देंगी महाकाली

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here