काशी,गोरखपुर और बनारस है आतंकी के निशाने पर, स्लीपर सेल्स को एक्टिव में लगी लश्कर

0
530

यूपी। कुछ दिनों से भारत में आतंकी खुसपेठी और रेकी की जाने की खबरें आ रही है। ऐसा बता जा रहा है कि बालाकोट एयरस्ट्राइक और फिर कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद पाकिस्तानी आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा भारत को आतंकवादी हमलों से दहलाने की साजिश रच रहा है। खुफिया इनपुट के मुताबिक लश्कर के निशाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  का संसदीय क्षेत्र वाराणसी, भगवान राम की नगरी अयोध्या और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का शहर गोरखपुर भी है। इसे भी पढ़ें:देश की जांबाज बेटी को मिलेगा युद्ध सेवा मेडल, बालाकोट स्ट्राइक में दिखाया था अदम्य शौर्य

बता दें कि लश्कर ने इन जगहों पर आतंकी हमले की कमान जिसे सौंपी है उसने हाल ही में वाराणसी की रेकी की है। रिपोर्ट के मुताबिक, नेपाल के जनकपुर जिले के धनसरा में रह रहे बिहार के मधुबनी जिले के बलकटवा निवासी आतंकी मोहम्मद उमर मदनी ने इसी साल मार्च और मई महीने में एक अन्य नेपाली युवक के साथ काशी और अन्य जगहों पर रूककर बैठक की थी। कहा जा रहा है कि मदनी उत्तर प्रदेश में लश्कर के स्लीपर सेल्स को एक्टिव करने में जुटा है, ताकि किसी बड़ी आतंकी वारदात को अंजाम दिया जा सके। ऐसा बताया जा रहा है कि मदनी ने स्लीपर सेल्स और फरार आतंकियों को बड़े धमाके करने के निर्देश दिए हैं।

रिपोर्ट के बाद इंटेलिजेंस एजेंसी की चौकसी बढ़ा दी गई है। वाराणसी में संवेदनशील इलाकों में गश्त बढ़ा दी गई है। साथ ही इनपुट के आधार पर स्थानीय पुलिस और अभिसूचना इकाई को अतिरिक्त सतर्कता बरतने की ताकीद की गई है। इसे भी पढ़ें:लश्कर के आतंकी बना रहे हैं बनारस में अपना बेस कैंप, कर रहे हैं बड़े हमले की तैयारी

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर और देश की समुद्री सीमा के साथ ही नेपाल के रास्ते भी आतंकी देश में घुसपैठ कर सकते हैं। आतंकवादियों की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र काशी, गोरखपुर और अयोध्या जैसे महत्वपूर्ण स्थानों पर स्लीपिंग मॉड्यूल तैयार कर उनके सहारे आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने की साजिश है।

अधिकारियों के अनुसार 14 मार्च और 22 मई को उमर मदनी की काशी में मौजूदगी का इनपुट मिला था। इस संबंध में पूछे जाने पर एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने बताया कि पुलिस हमेशा सतर्कता के साथ ड्यूटी करती है। खुफिया एजेंसियों के महत्वपूर्ण इनपुट के आधार पर हम अतिरिक्त सतर्कता बरतते हैं।इसे भी पढ़ें:भारत पर हमले की साजिश, बकरीद पर ‘अफगानी अटैक’ कर सकते है आतंकी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here