ISIS की जिहादी दुल्हन के बच्चे की मौत, अब कर रही है वापस जाने की मांग

0
366

शमीमा बेगम विश्वभर में ‘जिहादी दुल्हन’ के नाम से चर्चित है, लेकिन उनके नवजात बेटे की मौत हो गई है. सीरियन डेमोक्रिट के प्रवक्ता ने जानकारी दी कि उनके नवजात बेटे की मौत खराब स्वास्थय के कारण हुई है.दरअसल, बांग्लादेशी मूल की ब्रिटिश युवती ने साल 2015 में सीरिया जाकर इस्लामिक स्टेट आतंकी संगठन में शामिल होने का फैसला किया था. 17 फरवरी को शमीमा ने बच्चे को जन्म दिया था, लेकिन खराब स्वास्थय के चलते गुरुवार को बच्चे को अस्पताल में एडमिट करवाया गया. जहां बच्चे की मौत हो गई.

जन्म के समय से ही बच्चे को न्यूमोनिया पीड़ित था. शमीमा के नवजात बच्चे को शुक्रवार को दफनाया गया. बच्चे का नाम जर्राह रखा गया था. गुरुवार को जब जर्राह की तबीयत बिगड़ी तो कुर्दिश रेड क्रीसेंट के मेडिकल स्टाप ने मां और नवजात शिशु को अल-हॉल शिविर से अल-हसाकाह शहर के मुख्य अस्पताल भेज दिया था. शमीमा जब 15 साल की थी तब वो लंदन से भागकर सीरिया में आईएस में शामिल होने के लिए आ गई थी.

शमीमा चर्चा में उस वक्त आई थी जब उसने सार्वजनिक रूप से ब्रिटिश सरकार से उसे वापस आने की अनुमति देने का अनुरोध किया था. वहीं जहां वो ब्रिटेन वापस जाने की मांग कर रही है, तो वहीं ब्रिटेन सरकार ने शमीमा की नागरिकता वापस ले ली है. ये भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव लड़ेंगे रॉबर्ट वाड्रा? अब गाजियाबाद में भी की गई अपील

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here