इसरो ने ट्वीट कर बताया विक्रम लैंडर की स्थिति कैसी है…संपर्क स्थापित करने का प्रयास अभी जारी 

383

अगर हम या आप कहें कि संभावनाए खत्म हो गई है, तो यहां हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ये कहना अभी गलत होगा। क्योंकि, इसरो ने अभी एक ट्वीट कर विक्रम लैंडर की स्थिति के पूरी वर्तमान जानकारी को पेश किया है। इसरो ने अपने ऑफिशियल ट्विवटर हैंडल पर ट्वीट करते हुए कहा,’ चन्द्रयान-2 के आर्बिटर ने विक्रम लैंडर का पता तो लगा लिया है। लेकिन, अभी तक कोई संपर्क स्थापित नहीं हो पाया। हम अपनी तरफ से पूरी-पूरी कोशिश कर रहे हैं कि विक्रम लैंडर से संपर्क स्थापित किया जाए। ये भी पढ़े :चन्द्रयान-2 के बाद अब भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के पास है ये चार बड़े मिशन

यहां पर आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पहले इस बात की आंशका जताई जा रही थी कि विक्रम लैंडर टूट फूट चुका है, या फिर वो अपने रास्ते से भटक चुका है, लेकिन इसरो वैज्ञानिकों के हालिया बयानों मुताबिक, चन्द्रयान-2 विक्रम लैंडर पूरी तरह सही सलामत है। उसको क्षति नहीं हुई है। वो बिल्कुल ठीक है, लेकिन हां….अभी जरूरत है तो उससे संपर्क स्थापित करने की, क्योंकि अभी उससे हमारा संपर्क नहीं बन पा रहा है। लिहाजा, उम्मीदें अभी-भी कयम है।

वहीं, इसरो के एक वैज्ञानिकों ने कहा कि विक्रम लैंडर से संपर्क स्थापित करने के लिए हर संभंव कोशिश की जा रही है। इसरो ने एक दिन पहले ही लापता विक्रम लैंडर को खोज निकाला है। बस, अब जरूरत है, उससे संपर्क स्थापित करने की। गौरतलब है कि विक्रम को सॉफ्ट लैंडिंग करनी थी, लेकिन किसी कारणवश वो हार्ड लैंडिंग का शिकार हुआ।

इसके साथ ही इसरो के एक अन्य वैज्ञानिक ने भी कहा कि आर्बिटर ने जो विक्रम लैंडर की तस्वीर भेजी है। उससे  ये साफ होता है कि विक्रम की चांद पर हार्ड लैंडिग हुई है। बहरहाल, उम्मीदें अभी-भी कायम है।

वहीं, एक और अन्य वैज्ञानिक ने कहा कि विक्रम लैंडर की हार्ड लैंडिग के वजह से उससे संपर्क नहीं बन पा रहा है। हालांकि, विक्रम लैंडर अभी सुरक्षित है। इसमें कोई दोराय या दोमत नहीं है। बस जरूरत है उससे संपर्क स्थापित करने की है। इसकी कोशिश लगातार अभी जारी है। ये भी पढ़े :जब मिसाइल मैन के रॉकेट का बिगड़ा था दिमागी संतुलन, तभी दिख गई थी चन्द्रयान-2 की राह