डाकू मलखान सिंह का ऐलान..’सरकार कहे तो अपने 700 साथियों के साथ पाकिस्तान को ठिकाने लगा दूं’

0
985
malkhan_singh

बीहड़ पर राज करने वाला डाकू मलखान सिंह जिसकी गोलियों से ही लोग कांपने लगते थे. आज वही डाकू पुलवामा आतंकी हमले से इतना आहत हुआ है कि ‘वो बोला, मध्य प्रदेश में 700 बागी बचे हैं. शासन चाहे तो बिना शर्त, बिना किसी वेतन के हम अपने देश के लिए बॉर्डर पर जाकर मरने को तैयार हैं’. साथ ही मलखान सिंह ने कहा कि ‘हमसे लिखवा लो, कि अगर हम मारे गए तो कोई जुर्म नहीं. हम अपना बचा हुआ जीवन सीमा पर लगाने को तैयार हैं. और अगर अपनी बात से पीछे हट जाए तो हमारा नाम मलखान सिंह नहीं’.

मलखान सिंह ने ये भी बोला कि ‘हम कोई अनाड़ी नहीं है, मां भवानी का आर्शीवाद रहा तो मलखान सिंह का कोई बाल बाका नहीं कर पाएगा. हम चाहते हैं कि सरकार हमें बार्डर पर भेजे. और अगर मुझे टिकट मिली तो मैं इस बार लोकसभा चुनाव भी लड़ूंगा’. बता दें, डाकू मलखान सिंह शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करने कानुपर गए थे. सरकार पर निशाना साधते हुए मलखान बोले कि जब राजनीतिक दल वादे करते हैं. तो हार जाते हैं. अगर लोकसभा चुनाव में भी झूठे वादे करेंगे तो ये चुनाव भी हार जाएंगे.

मलखान ने कहा कि ‘देश के सारे नेताओं को एक साथ बैठकर कश्मीर पर फैसला लेना चाहिए. अब पाकिस्तान की धज्जियां उड़ाने का समय आ गया है. इसलिए अब एकजुट होकर आतंक को मिटाना होगा’. मलखान ने बताया कि ‘उन्होंने 1982 में आत्मसमर्पण किया था और तब अर्जुन सिंह सीएम थे. आत्मसमर्पण करते हुए उन्होंने सबके सामने कहा था कि अगर तीनों प्रांत के अंदर कोई महिला कह दे कि मलखान ने चांदी की अंगूठी भी उतारी हो. daku_malkhanतो इसी वक्त फांसी पर लटका दिया जाए’. मलखान सिंह ने ये भी बताया कि ‘उनका बीहड़ में बहुत साफ इतिहास है. जितना बागियों का इतिहास रहा है उतना किसी साधू-संत का भी नहीं है. देश के साधु तो बुरे काम करके जेल में पड़े हैं’. ये भी पढ़ेंः- पुलवामा में यूपी का बेटा शहीद मां बोली पाकिस्तान को खत्म कर दो

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here