बीजेपी नेता के बेटे को कांग्रेस ने दिया टिकट, पिता बोले ‘ये साजिश है’

0
257

लोकसभा चुनावों में टिकट बटंवारे में कांग्रेस के गोतमबुद्धनगर की सीट विवादों में फंसती हुई नजर आ रही है। दरअसल गोतमबुद्धनगर सीट से कांग्रेस ने बीजेपी नेता जयवीर सिंह के बेटे अरविंद सिंह को टिकट दिया है। जिसके बाद जहां एक तरफ कांग्रेस पार्टी को ही अंदरूनी कलह का सामना करना पड़ रहा है तो वही अब बीजेपी ने भी कांग्रेस पर राजनीतिक साजिश के तहत अरविंद को फसाने का आरोप लगाया है।

कांग्रेस की तरफ से अरविंद सिंह को टिकट देने के बाद, पिता जयवीर सिंह ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस राजनीतिक साजिस के तहत उनके बेटे को फंसा रही है। इसके आगे उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट एक पोस्ट भी शेयर किया। जिसमें उन्होंने पीएम मोदी के साथ पूरे परिवरा की एक फोटो लोगों तक पहुंचाई। इसके साथ उन्होंने लिखा कि मेरा बेटा परिवार से अलग नहीं है और कांग्रेस ने परिवार के मतभेदों का फायदा उठाने की कोशिश की है। इसलिए ही कांग्रेस ने मेरे बेटे को टिकट दिया है।

वही इस विवाद पर खुद अरविदं सिंह भी सामने आए। उन्होंने कहा कि मैं कभी भी भाजपा शामिल नहीं हुआ था। बेशक पूरा परिवार बीजेपी के सिद्धांतों पर चलता है लेकिन मेरी विचारधारा अलग है। पिता जयवीर सिंह भाजपा से एमएलसी हैं, इस कारण मुझे कांग्रेस से टिकट मिलना उन्हें नागवार गुजर रहा हैं। मैं और परिवार अलग-अलग हैं।

कांग्रेस के इस दांव का उल्टा असर अब पार्टी में ही दिख रहा है। अरविंद सिंह को टिकट देने के बाद दादरी विधानसभा से दो बार चुनाव लड़ चुके नेता रघुराज सिंह ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर की। इस पोस्ट में रघुराज सिंह ने यूपी के पश्चिमी उत्तर प्रदेश प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया पर आरोप लगाया है।

जिले में कांग्रेस का सबसे पुराना कुनबा ही पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से नाराज हो गया है। कांग्रेस के टिकट पर दो बार दादरी से विधानसभा का चुनाव लड़ चुके दिग्गज नेता रघुराज सिंह ने फेसबुक के जरिये टिकट बंटवारे को लेकर यूपी में पश्चिमी उत्तर प्रदेश प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया पर गंभीर आरोप लगाया है। उन्होंने अपनी पोस्ट में लिखा कि गोतमबुद्ध नगर में कांग्रेस का टिकट बेचा गया है। जो सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को बदनाम करने की साजिश है।’ इतना ही नहीं, रघराज सिंह का यह भी कहना है- ‘अरविंद सिंह के पिता बसपा से मंत्री रहे। अब भाजपा में हैं। ऐसे में अरविंद सिंह को टिकट धनबल का करिश्मा नहीं तो क्या है?’ उन्होंने यह भी लिखा है- ‘जब तक कांग्रेस लीडरशिप धन पशुओं की गुलामी से कांग्रेस कार्यकर्ताओं को मारते रहेंगे, पार्टी अस्तित्व की लड़ाई लड़ती रहेगी।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here