Thursday, February 2, 2023

अमेठी में कांग्रेस को लगा झटका, राहुल गांधी के खिलाफ ताल ठोकेंगे सोनिया गांधी के करीबी

Must read

- Advertisement -

लोकसभा चुनावों का परिणाम आने से पहले ही कांग्रेस को झटके लगने शुरू हो गए हैं. कभी उनकी पार्टी के बड़े प्रवक्ता चुनाव लड़ने से इनकार करते दिखाई दे रहे हैं. तो कभी पार्टी छोड़ते हुए नजर आ रहे हैं. और अब पार्टी को अपने ही गढ़ अमेठी से एक बड़ा झटका लगा है. और ये झटका देने वाले लोग पार्टी के काफी भरोसेमंद और करीबी हैं. जिनका नाम है हाजी राशिद जो राहुल गांधी के पिता राजीव गांधी के समय से ही गांधी परिवार के काफी करीब रहे हैं. और इन्होंने राहुल के खिलाफ अमेठी से चुनाव लड़ने का ऐलान किया है. हाजी मोहम्मद हारून राशिद, मोहम्मद सुलतान के बेटे हैं. जो राजीव गांधी और सोनिया गांधी के नामांकन के दौरान प्रस्तावकों में से एक रहे हैं.

- Advertisement -

अमेठी में राहुल गांधी के खिलाफ उतरे हाजी राशिद ने राहुल गांधी पर गंभीर आरोप लगाए हैं. और कहा है कि उन्होंने अमेठी में कोई विकास नहीं करवाया. ये बात उन्होंने टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में कही. वो बोले ‘कांग्रेस पार्टी क्या कहती है और क्या करती है, इसमें एक बहुत बड़ा अंतर है. और इसका उदाहरण आप अमेठी में देख सकते हैं. अमेठी आज पूरी तरह पिछड़ा हुआ है. यहां जमीनी स्तर पर कोई विकास नहीं किया गया है. और इसलिए मैंने अमेठी के अच्छे भविष्य के लिए राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ने का फैसला लिया है’.

70 सालों तक थे कांग्रेस के साथ
जैसा की हमने आपको बताया ही कि हाजी के पिता कांग्रेस के काफी पुराने कार्यकर्ता हैं. वो बताते हैं कि जब उनके पिता युवा थे तभी वो कांग्रेस पार्टी से जुड़ गए थे. और हमने 70 सालों से अधिक कांग्रेस का साथ दिया है. पर अब हमें इस बात का अहसास हो रहा है कि कांग्रेस पार्टी अमेठी में विकास करना ही नहीं चाहती. राशिद बोले 70 सालों तक हमने पार्टी पर भरोसा किया और अब भी अगर हमनें अपनी आंखें नहीं खोलीं. तो अमेठी का विकास कभी नहीं हो पाएगा.

सपा के नेताओं ने किया समर्थन!
हाजी राशिद से जब ये पूछा गया कि वो किस पार्टी से अमेठी में लड़ेंगे. तो उन्होंने जवाब दिया कि मैं अभी विकल्पों का मूल्यांकन कर रहा हूं. पर खबरें ऐसी सामने आई हैं कि हाजी राशिद को समाजवादी पार्टी का पूरा समर्थन मिल रहा है.ये भी पढ़ेंः- यूपी में बीजेपी ने काटा जोशी का टिकट, अब मच सकता है कि घमासान

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article