चाईनीज मांझे ने ली एक और मासूम की जान, प्रतिबंध के बाद भी धड़ल्ले से बिक रहा मांझा

0
280
चाईनीज मांझा

चीन भारत के लिए हानिकारक है। देश के सैनिक से लेकर देश की सरकार में अधिकारी भी अच्छे से जानते है। लेकिन ये बात भारत के विक्रेता को कभी समझ में नहीं आती। ना जाने कितने लोगों के खून से रंगे है इन दुकानदारों के हाथ। क्योंकि ये दुकानदार चीनी मांझा बेचते है। ये केवल अपना फायदा सोचते है और अपने फायदे के लिए किसी की भी जान ले सकते है मैं जाता हूं कि मेरी ये बातें कुछ लोगों चुभ जरूर रही होंगी। लेकिन ये सत्य है। आज चीनी मांझे ने एक और मासूम की जान ले ली।

खजूरी क्षेत्र में चार साल की मासूम अपने पिता के साथ जन्माष्टमी के दिन बाइक से मंदिर जा रही थी। चार साल की इशिका शर्मा को पिता ने आगे की बैठा रखा था। सोनिया विहार पुश्ता रोड से वजीराबाद रोड पर पहुंचते ही अचानक बाइक के आगे चीनी मांझा आ गया और इशिका की गर्दन में जा लगा और उसकी मौत हो गई। पुलिसन बताया कि सोनिया विहार पांचवां पुश्ता इलाके में इशिका पिता गिरीश शर्मा और मां पुष्पा देवी के साथ रहती थीं। मासूम के पिता एक प्राइवेट कंपनी में कर्मचारी है। शनिवार को जन्माष्टमी के दिन की गिरीश शर्मा की छुट्टी थी।

पिता ने बताया कि इशिका की गर्दन चीनी मांझे से कटती चली गई, खून बहते देख गिरीश को गर्दन कटने का पता चला। लेकिन तब तक पिता को ये पता चलने में देर हो चुकी थी की उनकी लाडली की मांझे से गर्दन कट गई चुकी है। जब उन्होंने बाइक रोकी तो तब तक इशिका की आधी गर्दन कट चुकी थी। वो आनन फानन में बच्ची को शास्त्री पार्क स्थित जगप्रवेश चंद अस्पताल ले कर पहुंचे। जहां बच्ची को डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया और एक हंसता खेलता परिवार पल भर में उजड़ गया।

ये कोई पहली घटना नहीं है। जब चीनी मांझे ने किसी मासूम की जान ली हो। रक्षाबंधन के दिन करीब 23 साल का युवक अपने बहन के साथ स्कूटी से अपने किसी रिश्तेदार के घर जा रहा था जमना पार इलाके में चीनी मांझे की चपेट में आने से उस युवक की मौत हो गई रक्षाबंधन के दिन एक बहन ने अपने भाई को खो दिया। इन सबके जिम्मेदार है वो लोग जो चीनी मांझे अपनी दुकान में जगह देते है। इनके मौते के जिम्मेदार है वो लोग जो चीनी मांझा खरीदते है। इनके जिम्मेदार वो मां बाप जो अपने बच्चों को चीनी मांझा खरीदने देते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here