Categories
Breaking News

बड़ा तोहफा: यूपी में लगेंगे 3 बायो सीएनजी प्लांट, अब कचरे से बनेगा ईंधन

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने यूपी में वर्णित पांच में से तीन बायो सीएनजी प्लांट की स्थापना को मंजूरी दे दी है. इस बात का केंद्र सरकार की ऑयल मार्केटिंग कंपनियों ने लेटर ऑफ इंटेंट (एलओआई) जारी कर दिया है. पांच में से बचे दो प्लांट का एलओआई जारी करने की कार्यवाही की जा रही है. इन पांच प्रोजेक्टों में करीब 110 करोड़ रुपये का निवेश होगा जिससे 125 लोगों को रोजगार मिल सकेगा. दरअसल, उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य जैव ऊर्जा उद्योग को प्रोत्साहन कार्यक्रम के चलते पांच बायो सीएनजी प्लांट की स्थापना से जुड़े प्रस्ताव को मंजूरी दी थी.

बताया जा रहा है कि चीनी मिलों के प्रेस मड, गोबर व सब्जी मंडी के फल व सब्जी के कचरे से बायो सीएनजी का उत्पादन किया जाना है. हर एक यूनिट करीब 120 टन कचरा का उपयोग कर प्रतिदिन करीब पांच से छह टन बायो सीएनजी का उत्पाद करेगी और इस सीएनजी का इस्तेमाल वाहन के ईंधन के रूप में किया जा सकता है. गौरतलब, है कि प्रदेश सरकार ने इन पांच यूनिटों के लिए उत्पादन की मंजूरी दी, जिसके बाद केंद्र सरकार की ऑयल मार्केटिंग कंपनियों को एलओआई जारी करने के लिए प्रस्ताव भेजा गया था. राज्य जैव ऊर्जा विकास बोर्ड के समन्वयक पीएस ओझा के अनुसार, ऑयल मार्केटिंग कंपनियों ने निवेशक आनंद मंगल, मित्तल इंटरप्राइजेज, व पीएस ग्रीन गैस को एलओआई जारी कर दिया है और साथ ही यह भी बताया कि आनंद मंगल मेरठ में, पीएस ग्रीन गैस मुजफ्फरनगर में व मित्तल इंटरप्राइजेज हापुड़ में बायो सीएनजी प्लांट की स्थापना करेंगे.

अब बायो सीएनजी का उत्पादन करने वाले निवेशकों को अपने उत्पाद बेचने के लिए इधर-उधर भटकना नहीं पड़ेगा क्योकि ऑयल कंपनियां यहां तैयार होने वाली बायो सीएनजी 46 रुपये प्रति लीटर की दर से खरीदेंगी, वहीं फिलहाल बायो सीएनजी पर 5 प्रतिशत जीएसटी लगता है, लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार ने फैसला किया है कि वो इसमें एसजीएसटी में भी छूट देगी. ये भी पढ़ें: AAP से गठबंधन को लेकर दिल्ली में राहुल की बड़ी बैठक, तैयार हुआ ये फॉमूला !

Leave a Reply

Your email address will not be published.