पाकिस्तान है आतंकियों का अड्डा, अमेरिका ने चीन से कहा ‘संभल जाओ

0
385

पुलवामा आतंकी हमले के बाद अमेरिका ने आतंकवाद को लेकर पाक और उसके मित्र चीन को नसीहत दे डाली है। ट्रंप प्रशासन ने दोनों देशों से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों के तहत अपनी जिम्मेदारियां निभाने को कहा है।अमेरिकी सरकार ने साफ तौर पर कहा है कि आतंकियों को पनाह न दी जाए और उनका किसी तरह से सहयोग भी न किया जाए।

उधर, अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनाल्ड ट्रप ने पुलवामा आतंकी हमले को ‘खौफनाक हालात’ बताया। हालांकि,उन्होंने यह भी कहा कि अच्छा होगा कि भारत और पाकिस्तान दोनों देश साथ मिलकर रहें।वैसे तो अमेरिका ने अपने विदेश विभाग के जरिए सभी देशों से आतंकियों को सुरक्षित पनाहगाह और सहयोग न देने को कहा है, पर यह कदम स्पष्ट रूप से इस्लामाबाद और पेइचिंग को ध्यान में रखकर उठाया गया।

दरअसल, पाकिस्तान संयुक्त राष्ट्र द्वारा घोषित आतंकियों की शरणस्थली बन चुका है और चीन लगातार अपने इस दोस्त पाक पर पड़ने अंतरराष्ट्रीय दबाव के खिलाफ वीटो पॉवर का इस्तेमाल करता रहा है।

भारत के साथ अमेरिका
पुलवामा आतंकी हमले में CRPF के 40 जवानों की मौत के बाद पिछले हफ्ते वाइट हाउस ने कहा था कि वह सीमा-पार आतंकवाद के खिलाफ भारत के आत्मरक्षा के अधिकार का समर्थन करता है। पुलवामा हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तान से संचालित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली है। इसके बाद अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने अपने भारतीय समकक्ष अजित डोभाल से फोन पर बात भी की। इस दौरान उन्होंने स्पष्ट संकेत दिया कि हमले के बाद भारत जो भी जवाबी कार्रवाई करता है, अमेरिका उसके साथ है। ये भी पढ़ें:पाकिस्तान के लिए ज्योतिषी की भव्षियवाणी: ‘संकट आएगा, सेना अध्यक्ष को परेशानी होगी

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here