कांग्रेस से गठबंधन नहीं, अब खुलकर राहुल गांधी पर बरसे अखिलेश

0
304

भारतीय राजनीति में कहा जाता है कि दिल्ली की सत्ता पर काबिज होने का रास्ता उत्तर प्रदेश से होता हुआ जाता है. जिसके चलते कांग्रेस प्रदेश में हुए सपा-बसपा गठबंधन का हिस्सा बनना चाहती थी, लेकिन ऐसा हो न सका. कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश में अपने दम पर अकेले लोकसभा चुनाव लड़ने का ऐलान किया. साथ ही अपने उम्मीदवारों की घोषणा भी कर दी. वहीं सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कांग्रेस पर तीखा हमला किया है.

क्या कहा अखिलेश ने

यूपी में गठबंधन न होने पर कांग्रेस पर आरोप लगाया कि कांग्रेस प्रदेश में खुद की जमीन मजबूत करने पर ज्यादा ध्यान दे रही थी न कि पीएम मोदी को चुनाव हराने पर. उन्होंने कहा कि कांग्रेस को सपा-बसपा गठबंधन में शामिल होना चाहिए था, आगर वो सच में बीजेपी को हराना चाहती थी. गठबंदन की तैयारी बहुत पहले शुरू हो गई थी. सपा और बसपा के कार्यकर्ताओं ने गोरखपुर उपचुनाव में भाजपा उम्मीदवार को हराने में बहुत मेहनत की है. सपा-बसपा ने अपने हितों को अलग रखकर गठबंदन किया है. देश चाहता है कि मोदी सरकार को हटाया जाए, लेकिन कांग्रेस सिर्फ बीजेपी को मजबूत करने में लगी है.

अखिलेश यादव ने कांग्रेस को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि जब गठबंधन हुआ तो यूपी कांग्रेस अन्य राज्यों में पार्टी की जीत का जश्न मनाने में जुटी थी. साथ ही अखिलेश ने कहा हमारे एकलौते विधायक ने मध्य प्रदेश में कांग्रेस का समर्थन किया, लेकिन इसके बाद भी उसे मंत्री पद नहीं दिया गया. जबकि ये वादा किया गया था. ये भी पढ़ें: इन 6 तरह के लोगों से हमेशा दूर रहना चाहिए, वरना मुश्किल में फंसेंगे आप

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here