Categories
Breaking News

6 विमानों से अकेला लड़ रहा था अभिनंदन का विमान, सामने आई रिपोर्ट

विंग कमांडर अभिनंदन अकेले ही पाक के लड़ाकू विमान से लड़ते हुए पाक की सीमा में जा गिरे थे. और अब इसकी एक रिपोर्ट भी सामने आई है. जिससे ये पूरी तरह साबित हो चुका है कि अभिनंदन ने वाकई कितना बहादुरी का काम किया है. अभिनंदन ने कश्मीर के होरन गांव मे छलांग लगाई थी. और ये हिस्सा पाक के अंदर आता है. गांव पूरी तरह पहाड़ी पर बसा हुआ है. और उसके रास्ते भी काफी खराब हैं. गांव में जांच पड़ताल के लिए न्यूज चैनल आज तक की टीम वहां पहुंची और जायजा लिया.

बता दें, होरन गांव से करीब 250 मीटर की दूरी पर ही विंग कमांडर अभिनंदन का विमान क्रैश हो गया था. इसके बाद कमांडर पैराशूट की मदद से गांव की पहाड़ी पर उतरे थे. और जब पहाड़ी पर विमान का मलबा धमाके के साथ गिरा तो उसकी आवाज से पूरे गांव में सन्नाटा छा गया. और वारदात के 10 दिन गुजर जाने पर भी वहां के हालात ज्यों के त्यों बने हुए हैं.

अभिनंदन को भीड़ ने दबोचा

ग्रामीण ने कहा कि 27 फरवरी की सुबह करीब 9 बजे एक तेज धमाका हुआ. और 6 जहाज एक दूसरे जहाज को घेरना का प्रयास कर रहे थे. जो दूसरा जहाज था वो भारत के विंग कमांडर अभिनंदन का था. इसके बाद अभिनंदन के विमान पर हमला हुआ. और ग्रामीणों ने उन्हें पैराशूट से भी नीचे उतरते देखा. ग्रामीणों का कहना था कि जब वो धीरे-धीरे नीचे उतर रहे थे तो हम सब उसके पास जाना चाहते थे. पर उनके पास हथियार थे. जो इस बात को दर्शा रहे थे कि वो हिंदुस्तान का है.

पैराशूट से नीचे उतरते ही गांव के लोग उन्हें कब्जे में लेने के लिए दौड़ने लगी. इसी कारण अभिनंदन के जवाब पर उन्हें कहा गया था कि ये हिंदुस्तान है. ग्रामीण ने बताया उन्होंने हमसे पीने के लिए पानी मांगा और मोबाइल भी. पर हमने कहा कि पहले अपने हथियार फेंको. तभी हम पानी और मोबाइल देंगे. इसके बाद अभिनंदन ने बताया कि उनकी कमर टूट चुकी है. तब भी हमने उन्हें अस्पताल ले जाने का आश्वासन दिया. ये भी पढ़ेंः- बड़ा खुलासा: पाकिस्तानी सेना की कैद में अभिनंदन ने इस तरह बिताए 24 घंटे

पर अभिनंदन थोड़ी देर बाद ही समझ गए कि ये पाक की धरती है. और तुरंत उन्होंने अपने दस्तावेजों को चबा डाला. जिससे उनकी जानकारी दुश्मन के हाथ न लगे. इसके बावजूद भीड़ उनका पीछा करने लगी. और वो तलाब की तरफ भागने लगे.लेकिन इतने में ही किसी ने गोली चला दी जो उनके पैर पर लगी. तब अभिनंदन ने अपनी बंदूक फेंकी. और भीड़ उन पर टूट पड़ी. हालात ऐसे थे जैसे भीड़ उन्हें जान से मार डालेगी. चंद सेंकडों बाद पाक सेना के जवानों ने आकर उन्हें अपनी गिरफ्त में ले लिया और साथ ले गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *