AAP- कांग्रेस में गठबंधन संभव…इन दो नेताओं की बात नहीं टाल सकते केजरीवाल और राहुल

0
462

लोकसभा चुनाव के लिए पहले अटकलें थी कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन हो सकता है, जिसके लिए राहुल गांधी ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ मंगलवार को बैठक की. वहीं शाम होने से पहले कांग्रेस ने गठबंधन होने की सभी अटकलों को विराम लगाते हुए ऐलान किया कि वो आप पार्टी से गठबंधन नहीं करेगी. वहीं अब खबरें हैं कि भले ही गठबंधन न होने का ऐलान हो गया हो, लेकिन दोनों पार्टियों के अंदरखाने इसको लेकर कोशिश चरम पर हैं. इसके लिए दो नेता अहम रोल निभा रहे हैं.

ये हैं वो 2 नेता
आप-कांग्रेस के गठबंधन होने की संभावना एक बार फिर परवान चढ़ने को तैयार हैं और इसमें अहम रोल निभा रहे हैं. पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी और आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्र बाबू नायडू. दरअसल, इन दोनों ही नेताओं के राहुल गांधी और अरविंद केजरीवाल से संबंध अच्छे हैं. जहां भले ही गठबंधन से फिलहाल इंकार कर दिया हो, लेकिन ममता और चंद्र बाबू की बात टालना राहुल और केजरीवाल दोनों के लिए आसान नहीं है. ऐसे में अब चिंता कांग्रेस के उस खेमे को है जो इस गठबंधन का विरोध कर रहा है और आप पार्टी के उन कार्यकर्ताओं को भी चिंता सता रही है जो काफी लंबे समय से लोकसभा चुनाव की तैयारियों में लगे हुए हैं.

मंगलवार को घटा ये घटनाक्रम
कांग्रेस ने ऐलान कर दिया कि वो दिल्ली की सातों लोकसभा सीटों पर अकेले अपने दम पर चुनाव लड़ेंगी, लेकिन ये फैसला क्या सच में कांग्रेस ने लिया या फिर इसके पीछे कोई और है? सूत्र बताते हैं कि राहुल गांधी और अरविंद केजरीवाल की सोच शीला दीक्षित से नहीं मिल पाई, जिसके चलते ये गठबंधन नहीं हो सका क्योंकि राहुल और केजरीवाल सालों सीटों पर आप-कांग्रेस गठबंधन चाहते थे और शीला दीक्षित ऐसा नहीं चाहती थी.

दरअसल, एआइसीसी के निर्देश पर लगातार दो दिन से शीला दीक्षित अपने घर में वरिष्ठ नेताओं को बुलाकर गठबंधन पर राय मांग रही थी. लगभग सभी ने कहा कि कांग्रेस का ग्राफ दिल्ली में निरंतर बढ़ रहा है और आप की लोकप्रियता कम हो रही है. बस फिर क्या था शीला दीक्षित ने ये बात राहुल गांधी के सामने रखी. जिसे खुद राहुल को भी समझना पड़ा और आप से गठबंधन न करने का ऐलान करना पड़ा. ये भी पढ़ें: राफेल पर सरकार का कोर्ट में जवाब..CBI जांच हुई, तो देश को नुकसान होगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here