Categories
Breaking News

देशभर के 58 लाख आधार कार्ड धारकों पर मंडराया खतरा, लीक हो गईं डिटेल

सरकारी गैस कंपनी इण्डेन की एक बड़ी लापरवाही सामने आई है, जिसमें 58 लाख से ज्यादा आधार कार्ड धारकों के आधार नंबर और बाकी अन्य जानकारी लीक हो गई है. दरअसल, ये दावा फ्रांस के एक रिसर्चर बैपटिस्ट रॉबर्ट ने किया है. मंगलवार को एलियट एल्डरसन नाम के ट्विटर हैंडल पर बताया गया कि लोकल डीलर्स के पोर्टल पर सत्यापन नहीं होने के कारण इण्डेन के ग्राहकों के आधार कार्ड नंबर समेत नाम, पत्ते सब जानकारी लीक हो रहे हैं. हालांकि, ये पहली बार नहीं जब बैपटिस्ट ने आधार को लेकर इस तरह का खुलासा किया हो. इससे पहले भी वो आधार कार्ड को लेकर इस तरह के लीक होने का खुलासा कर चुके हैं.

इण्डेन ने ब्लॉक किया आईपी एड्रेस
रिसर्चर बैपटिस्ट रॉबर्ट के अनुसार, पाइथन स्क्रिप्ट के तकनीकी कोड के जरिए उन्होने 11 हजार डीलर्स के लॉगिन आईडी हासिल कर लिए, जिसमें से 9490 डीलर से जुड़े 58 लाख 26 हजार 116 ग्राहकों के डेटा अगले 1 से 2 दिन में ही एक्सेस हो गए. हालांकि, बाद में इण्डेन ने आईपी एड्रेस ब्लॉक कर दिया था. इस डेटा लीक होने से कुल 5,826,116 इण्डेन ग्राहक प्रभावित हुए हैं. रॉबर्ट के मुताबिक, इण्डेन द्वारा आईपी एड्रेस ब्लॉक करने से पहले उसके पास 58 लाख इण्डेन उपभोक्ताओं का डाटा पहुंच चुका था.

वहीं यूआईडीएआई और इण्डेन की तरफ से इस लीक को लेकर अब तक कुछ बयान नहीं आया है, लेकिन इन सबके बीच ये सोचने वाला विषय ये है कि जब एजेंसी लोगों के डेटा को संभाल कर रख नहीं पा रही तो फिर लोग कैसे इण्डेन पर भरोसा जताए क्योंकि इससे उनकी पर्सनल डिटेल्स गलत हाथों में पहुंच रही है. ये भी पढ़ें: भारतीय सेना की खुली चेतावनी जो कश्मीर में बंदूक उठाएगा, वो मारा जाएगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *