नई दिल्ली(new delhi) जैसा कि सब जानते हैं कि इन दिनों पेट्रोल-डीजल(petrol diesel) के दाम आसमान छू रहे हैं. जिससे आम आदमी के जेब पर इसका काफी असर पड़ रहा है. लेकिन ऐसी उम्मीद है कि पेट्रोल और डीजल सस्ता होगा. दरअसल,17 सितंबर को लखनऊ में जीएसटी काउंसिल(GST Council) की बैठक होने जा रही है. होने वाली बैठक में पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने पर चर्चा हो सकती है. सूत्रों के मुताबिक- जीएसटी

Petrol and Diesel Prices Today (7 May 2021): Here are fuel prices in Delhi,  Mumbai, Rajasthan, Kolkata, Chennai, check hereकॉउन्सिल की बैठक में केरल हाई कोर्ट में पेट्रोल-डीजल को GST में शामिल करने से जुड़े केरल प्रदेश गांधी दर्शनावेधि, तिरुवनंतपुरम के रिट पीटिशन पर केरल उच्च न्यायालय के आदेश पर चर्चा हो सकती है.

बता दें कि पेट्रोल और डीजल पर तीन तरह के टैक्स और ड्यूटी लगते हैं. एक्साइज, वैट और सेस. अभी राज्यों को पेट्रोल-डीजल पर लगने वाली एक्साइज ड्यूटी का करीब 41 प्रतिशत हिस्सा मिलता है. वैट राज्य सरकारों के हिस्से में जाता है. अगर पेट्रोल और डीजल को जीएसटी में शामिल करने के लिए एक्साइज ड्यूटी और वैट को मर्ज करने में पर कोई प्रस्ताव भविष्य में तैयार होता है तो हमें ये देखना होगा कि राज्यों के राजस्व को कोई नुकसान तो नहीं होगा. पेट्रोल-

Petrol, diesel prices today in Hyderabad, Delhi, Chennai, Mumbai hikes on  11 June 2021डीजल को जीएसटी में शामिल करने से हमारे राजस्व की कमाई पर पड़ने वाले असर के आंकलन के बाद ही हम इस पर अपना स्टैंड तय कर पाएंगे.

दिल्ली में पेट्रोल पर अभी करीब 55 प्रतिशत टैक्स लगता है. अगर 28 प्रतिशत के जीएसटी के हाई स्लैब में भी इसे शामिल किया जाता है तो टैक्स आधा हो जाएगा. इससे दिल्ली में ताजा कीमतों के हिसाब से पेट्रोल 28 रुपये सस्ता हो

GST Council likely to consider bringing petrol, diesel under GST on Friday  - BusinessTodayजाएगा, लेकिन सवाल वही है कि क्या राज्य सरकारें इस बड़े नुकसान को बर्दाश्त करने के लिए तैयार होंगी. ये सबसे बड़ा सवाल है. वैसे अर्थशास्त्रियों का मानना है कि अतिरिक्त कर लगाकर इस होने वाले नुकसान की भरपाई भी एक विकल्प है. लेकिन क्या इस पर सहमति बनेगी.

इसे भी पढ़ें-ओवरटेक करने के चक्कर में बस के नीचे आया युवक, सीसीटीवी में कैद हुई वारदात