जब पीएम मोदी से लिपटकर रोने लगे isro chief k sivan, तो पीएम मोदी ने यूं बढ़ाई हिम्मत

असफलता एक चुनौती है। इसे स्वीकार करना सीखें, न की हताश होना। इसकी असल बानगी हमें तब देखने को मिली, जब पीएम मोदी ने इसरो के प्रमुख के सीवन का हौसला बढ़ाया। हुआ यूं कि चांद के दक्षिण ध्रुव पर उतरने से कुछ सेंकड पहले ही चन्द्रयान-2 का संपर्क टूट गया। अपनी इस तनिक विफलता से के सीवन का हदय इतना क्षब्ध हो गया कि वे अपने आप पर काबू न कर पाए और और फूट-फूट कर रोने लगे, तभी मौके पर मौजूद पीएम मोदी ने उन्हें अपने बांहों में भर लिया, और सांत्वना देने की पुरजोर कोशिश की। पीएम मोदी ने के सिवन को अपने गले लगा लिया। उनका हैसला बढ़ाया। उन्हें हिम्मत देने का काम किया। साथ ही उनके इस हौसले को भी सलाम किया। ये भी पढ़े :इसरो ने रचा इतिहास, चंद्रयान-2 की हुई सफल लॉन्चिंग, दुनिया ने देखा भारत का दम

दरअसल, यान के चन्द्रमा पर उतरने के मौके पर पीएम मोदी इसरो मुख्यालय पहुंचें थेंं, लेकिन किसी कारणवश यान का संपर्क पृथ्वी से महज कुछ सेंकड के लिए टूट गया था, तभी के सिवन भावुक हो गए तो पीएम मोदी ने उनका हौसला बढ़ाते हुए उनकी पीठ थपथपाई।

वहीं, पीएम मोदी ने इसके बाद इसरो के वैज्ञानिकों को संबोधित करते हुए कहा कि हम एक दिन जरूर कामयाब होंगे। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि हम असफल हो सकते हैं, लेकिन हमारी हिम्मत नहीं टूट सकती है। पीएम मोदी ने ये भी कहा कि हर मुश्किल, हर असफलता हमें कुछ सिखा कर जाती है। कुछ नए अविष्कार करने के लिए हमें प्रेरित करती है और यही हमारे आगे की सफलता को तय करती है। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि विज्ञान में असफलता नहीं होती है। विज्ञान में केवल प्रयोग और प्रयास होते हैं। ये भी पढ़े :चंद्रयान-2: जाने आखिरी के 15 मिनट में क्या हुआ, विक्रम लैंडर कैसे भटका रास्ता

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,092,598FansLike
5,000FollowersFollow
5,023SubscribersSubscribe

Latest Articles